Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Mar 2023 · 1 min read

खुद की तलाश में मन

तन्हा मन ढूंढने चला अंतर्मन।
चहुं दिशा छाये काले घन।

दिखे कहीं कोई उजली किरन
खिल जाये अस्तित्व हो सिरहन।

उस अनंत को जान जाऊं मैं
दिया जिसने मुझे ये जीवन धन।

क्यों उसको भूला कर बैठी हूं
क्यों बन गई इतनी‌ कृतघ्न।

मान खुद को अंश तू खुदा का
समर्पित करदे तू अपना जीवन।

सुरिंदर कौर

Language: Hindi
515 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Surinder blackpen
View all
You may also like:
गले लगाना पड़ता है
गले लगाना पड़ता है
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
আজ রাতে তোমায় শেষ চিঠি লিখবো,
আজ রাতে তোমায় শেষ চিঠি লিখবো,
Sakhawat Jisan
तिरंगा
तिरंगा
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
🇮🇳मेरा देश भारत🇮🇳
🇮🇳मेरा देश भारत🇮🇳
Dr. Vaishali Verma
Exploring the Vast Dimensions of the Universe
Exploring the Vast Dimensions of the Universe
Shyam Sundar Subramanian
अनंतनाग में शहीद हुए
अनंतनाग में शहीद हुए
Harminder Kaur
राम लला
राम लला
Satyaveer vaishnav
कार्य महान
कार्य महान
surenderpal vaidya
शाकाहारी
शाकाहारी
डिजेन्द्र कुर्रे
गजल सगीर
गजल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
छोटी- छोटी प्रस्तुतियों को भी लोग पढ़ते नहीं हैं, फिर फेसबूक
छोटी- छोटी प्रस्तुतियों को भी लोग पढ़ते नहीं हैं, फिर फेसबूक
DrLakshman Jha Parimal
विश्व कप-2023 फाइनल सुर्खियां
विश्व कप-2023 फाइनल सुर्खियां
गुमनाम 'बाबा'
मेरे दिल के खूं से, तुमने मांग सजाई है
मेरे दिल के खूं से, तुमने मांग सजाई है
gurudeenverma198
हम बच्चे
हम बच्चे
Dr. Pradeep Kumar Sharma
कुत्तज़िन्दगी / Musafir baithA
कुत्तज़िन्दगी / Musafir baithA
Dr MusafiR BaithA
राजभवनों में बने
राजभवनों में बने
Shivkumar Bilagrami
#विभाजन_दिवस
#विभाजन_दिवस
*प्रणय प्रभात*
23/13.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
23/13.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
लोगो खामोश रहो
लोगो खामोश रहो
Surinder blackpen
खुद की तलाश
खुद की तलाश
Madhavi Srivastava
ज़िंदगी की उलझन;
ज़िंदगी की उलझन;
शोभा कुमारी
धर्म अधर्म की बाते करते, पूरी मनवता को सतायेगा
धर्म अधर्म की बाते करते, पूरी मनवता को सतायेगा
Anil chobisa
यूं ही हमारी दोस्ती का सिलसिला रहे।
यूं ही हमारी दोस्ती का सिलसिला रहे।
सत्य कुमार प्रेमी
कभी मज़बूरियों से हार दिल कमज़ोर मत करना
कभी मज़बूरियों से हार दिल कमज़ोर मत करना
आर.एस. 'प्रीतम'
Opportunity definitely knocks but do not know at what point
Opportunity definitely knocks but do not know at what point
Piyush Goel
ना हो अपनी धरती बेवा।
ना हो अपनी धरती बेवा।
Ashok Sharma
कौन हो तुम
कौन हो तुम
DR ARUN KUMAR SHASTRI
"नश्वर"
Dr. Kishan tandon kranti
आँगन में एक पेड़ चाँदनी....!
आँगन में एक पेड़ चाँदनी....!
singh kunwar sarvendra vikram
होरी खेलन आयेनहीं नन्दलाल
होरी खेलन आयेनहीं नन्दलाल
Bodhisatva kastooriya
Loading...