Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Apr 2023 · 1 min read

खुदकुशी नाहीं, इंकलाब करअ

ज़िंदगी पूरा जियला बिना
मरीहअ मत, ऐ साथी
कवनो हालत में खुदकुशी
करीहअ मत, ऐ साथी…
(१)
आज नाहीं तअ काल्ह तहरा
कामयाबी जरूर मिली
एतना जल्दी आपन हिम्मत
हरीहअ मत, ऐ साथी…
(२)
हाय, वइसे ही ये दुनिया में
केतना लोग दुखी बाटे
तू हूं एइमें अपना दुख के
भरीहअ मत, ऐ साथी…
(३)
आग लगावे के बा मिलके
जुल्मत के हर निजाम में
एइसे पहिले कबो चिता में
जरीहअ मत, ऐ साथी…
#Geetkar
Shekhar Chandra Mitra
#फनकार #सियासत #जनवादी
#bhojpuri #filmy #हल्लाबोल
#singer #गीतकार #कवि #rebel
#suicide #youths #students
#fighter #lyricist #आत्महत्या
#क्रांति #विद्रोह #इंकलाब #बगावत

Language: Bhojpuri
Tag: गीत
214 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
शहर में बिखरी है सनसनी सी ,
शहर में बिखरी है सनसनी सी ,
Manju sagar
पथ प्रदर्शक पिता
पथ प्रदर्शक पिता
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
आपसे होगा नहीं , मुझसे छोड़ा नहीं जाएगा
आपसे होगा नहीं , मुझसे छोड़ा नहीं जाएगा
Keshav kishor Kumar
वन गमन
वन गमन
Shashi Mahajan
हर क़दम पर सराब है सचमुच
हर क़दम पर सराब है सचमुच
Sarfaraz Ahmed Aasee
तुझसे यूं बिछड़ने की सज़ा, सज़ा-ए-मौत ही सही,
तुझसे यूं बिछड़ने की सज़ा, सज़ा-ए-मौत ही सही,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
" बेदर्द ज़माना "
Chunnu Lal Gupta
सामाजिक बहिष्कार हो
सामाजिक बहिष्कार हो
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
यूनिवर्सिटी नहीं केवल वहां का माहौल बड़ा है।
यूनिवर्सिटी नहीं केवल वहां का माहौल बड़ा है।
Rj Anand Prajapati
सारथी
सारथी
krishna waghmare , कवि,लेखक,पेंटर
" बोलियाँ "
Dr. Kishan tandon kranti
सपने कीमत मांगते है सपने चाहिए तो जो जो कीमत वो मांगे चुकने
सपने कीमत मांगते है सपने चाहिए तो जो जो कीमत वो मांगे चुकने
पूर्वार्थ
■ बेशर्म सियासत दिल्ली की।।
■ बेशर्म सियासत दिल्ली की।।
*प्रणय प्रभात*
कह दिया आपने साथ रहना हमें।
कह दिया आपने साथ रहना हमें।
surenderpal vaidya
उम्मीद की नाव
उम्मीद की नाव
Karuna Goswami
पथ सहज नहीं रणधीर
पथ सहज नहीं रणधीर
Shravan singh
बोलो क्या लफड़ा है
बोलो क्या लफड़ा है
gurudeenverma198
दिल में कुण्ठित होती नारी
दिल में कुण्ठित होती नारी
Pratibha Pandey
मन काशी मन द्वारिका,मन मथुरा मन कुंभ।
मन काशी मन द्वारिका,मन मथुरा मन कुंभ।
विमला महरिया मौज
इस धरा पर अगर कोई चीज आपको रुचिकर नहीं लगता है,तो इसका सीधा
इस धरा पर अगर कोई चीज आपको रुचिकर नहीं लगता है,तो इसका सीधा
Paras Nath Jha
खुशियों की सौगात
खुशियों की सौगात
DR ARUN KUMAR SHASTRI
भारत के बीर सपूत
भारत के बीर सपूत
Dinesh Kumar Gangwar
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
inner voice!
inner voice!
कविता झा ‘गीत’
औरत औकात
औरत औकात
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
शक्तिहीनों का कोई संगठन नहीं होता।
शक्तिहीनों का कोई संगठन नहीं होता।
Sanjay ' शून्य'
পছন্দের ঘাটশিলা স্টেশন
পছন্দের ঘাটশিলা স্টেশন
Arghyadeep Chakraborty
प्रेम को भला कौन समझ पाया है
प्रेम को भला कौन समझ पाया है
Mamta Singh Devaa
हिन्दी
हिन्दी
manjula chauhan
महाराष्ट्र की राजनीति
महाराष्ट्र की राजनीति
Anand Kumar
Loading...