Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Jun 2023 · 1 min read

खारिज़ करने के तर्क / मुसाफ़िर बैठा

मुझे उसे समंदर बनाये जाने पर गहरा एतराज लगा।

मैंने उसकी सही औक़ात की जगह दिखाने को उसे रेगिस्तान कहना चाहा।
याद आया रेगिस्तान में भी दुबई, कतर जैसी समृद्ध शहराती दुनिया है, दुनिया को गतिमान रखने के तेल-खजाने हैं
मैंने उसे ताल तलैया की माफिक छोटा बताना चाहा
तब लगा कि नाहक ही तालाबों की औकात बताने में लगा हूँ।
कितने काम के होते हैं तालाब
नास्तिक, आस्तिक, जीव जंतु, चिड़ई चुनमुन रंग बदरंग सबके काम के होते हैं वे
नदी नाले आदि से भी उपमित कर उसे उसकी सही जगह दिखाने की तरकीब पर विचार किया
जाहिर है यह भी अनुचित जँचा।
नदी तो सभ्यताओं की जन्मदात्री ही है, और अंधमनुष्यों के आधुनिक असभ्य अंधविश्वासी करतबों के सिंचन का जरिया भी
और, नाले चाहे ख़ुद गंधाये, हम मनुष्यों की कई कई दुर्गंधों को पाटने में सहयोगी हैं

अंततः तय किया मैंने
बिना मुहावरों, कहावतों एवं दृष्टांतों के ही
उसे सीधे साफ़ ही क्यों न ख़ारिज किया जाए!

Language: Hindi
1 Like · 228 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr MusafiR BaithA
View all
You may also like:
अपना समझकर ही गहरे ज़ख्म दिखाये थे
अपना समझकर ही गहरे ज़ख्म दिखाये थे
'अशांत' शेखर
कम आ रहे हो ख़़्वाबों में आजकल,
कम आ रहे हो ख़़्वाबों में आजकल,
Shreedhar
अगर, आप सही है
अगर, आप सही है
Bhupendra Rawat
कबूतर इस जमाने में कहां अब पाले जाते हैं
कबूतर इस जमाने में कहां अब पाले जाते हैं
अरशद रसूल बदायूंनी
#एक_विचार
#एक_विचार
*Author प्रणय प्रभात*
साईं बाबा
साईं बाबा
Sidhartha Mishra
रंजीत शुक्ल
रंजीत शुक्ल
Ranjeet Kumar Shukla
*कौन है ये अबोध बालक*
*कौन है ये अबोध बालक*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हरा-भरा अब कब रहा, पेड़ों से संसार(कुंडलिया )
हरा-भरा अब कब रहा, पेड़ों से संसार(कुंडलिया )
Ravi Prakash
🌹Prodigy Love-21🌹
🌹Prodigy Love-21🌹
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बिल्ले राम
बिल्ले राम
Kanchan Khanna
चंद्रयान 3
चंद्रयान 3
Seema gupta,Alwar
झूठ रहा है जीत
झूठ रहा है जीत
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
सावन भादो
सावन भादो
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
माँ काली साक्षात
माँ काली साक्षात
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सफलता
सफलता
Vandna Thakur
LK99 सुपरकंडक्टर की क्षमता का आकलन एवं इसके शून्य प्रतिरोध गुण के लाभकारी अनुप्रयोगों की विवेचना
LK99 सुपरकंडक्टर की क्षमता का आकलन एवं इसके शून्य प्रतिरोध गुण के लाभकारी अनुप्रयोगों की विवेचना
Shyam Sundar Subramanian
** बहुत दूर **
** बहुत दूर **
surenderpal vaidya
पिता की आंखें
पिता की आंखें
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
वफादारी का ईनाम
वफादारी का ईनाम
Shekhar Chandra Mitra
मैं मांझी सा जिद्दी हूं
मैं मांझी सा जिद्दी हूं
AMRESH KUMAR VERMA
यूनिवर्सल सिविल कोड
यूनिवर्सल सिविल कोड
Dr. Harvinder Singh Bakshi
হাজার বছরের আঁধার
হাজার বছরের আঁধার
Sakhawat Jisan
एक एक ख्वाहिशें आँख से
एक एक ख्वाहिशें आँख से
Namrata Sona
जीवन दर्शन
जीवन दर्शन
Prakash Chandra
*** चोर ***
*** चोर ***
Chunnu Lal Gupta
**हो गया हूँ दर बदर चाल बदली देख कर**
**हो गया हूँ दर बदर चाल बदली देख कर**
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
बचपन और पचपन
बचपन और पचपन
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
सरस्वती वंदना-6
सरस्वती वंदना-6
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
"कबड्डी"
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...