Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Nov 2023 · 1 min read

क्रोधी सदा भूत में जीता

क्रोधी सदा भूत में जीता, वर्तमान में कामी।
लोभी जीता है भविष्य में, करता नमकहरामी।।

क्रोध घटित घटना पर आकर, काम बिगाड़ा करता।
अधिक क्रोध का कुफल भोगती, है सारी मानवता।।
क्रोध पाप का मूल, क्रोध के, बनें न हम अनुगामी।
क्रोधी सदा भूत में जीता, वर्तमान में कामी।।

जाति-कुजाति, समय-असमय पर, कामी ध्यान न देता।
मौत सामने आ जाए तो, वह उससे लड़ लेता।।
कदाचार करता कामातुर, तब होती बदनामी।
क्रोधी सदा भूत में जीता, वर्तमान में कामी।।

लोभी जिस थाली में खाता, छेद उसी में करता।
त्रास दूसरों को देकर वह, हर्ष हृदय में भरता।।
होती आई सदा लोभ की, परिणति दुष्परिणामी।
लोभी जीता है भविष्य में, करता नमकहरामी।।

महेश चन्द्र त्रिपाठी

Language: Hindi
Tag: गीत
159 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from महेश चन्द्र त्रिपाठी
View all
You may also like:
बस जिंदगी है गुज़र रही है
बस जिंदगी है गुज़र रही है
Manoj Mahato
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
मत जलाओ तुम दुबारा रक्त की चिंगारिया।
मत जलाओ तुम दुबारा रक्त की चिंगारिया।
Sanjay ' शून्य'
नाम लिख तो लिया
नाम लिख तो लिया
SHAMA PARVEEN
आसान नहीं
आसान नहीं
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
International Camel Year
International Camel Year
Tushar Jagawat
अधूरा घर
अधूरा घर
Kanchan Khanna
2952.*पूर्णिका*
2952.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
कैसा
कैसा
Ajay Mishra
Insaan badal jata hai
Insaan badal jata hai
Aisha Mohan
" मेरा रत्न "
Dr Meenu Poonia
जिंदगी के लिए वो क़िरदार हैं हम,
जिंदगी के लिए वो क़िरदार हैं हम,
Ashish shukla
कभी मिले नहीं है एक ही मंजिल पर जानें वाले रास्तें
कभी मिले नहीं है एक ही मंजिल पर जानें वाले रास्तें
Sonu sugandh
#दोहा
#दोहा
*Author प्रणय प्रभात*
.
.
शेखर सिंह
"इंसान बनना है"
Dr. Kishan tandon kranti
इन तन्हाइयों में तुम्हारी याद आएगी
इन तन्हाइयों में तुम्हारी याद आएगी
Ram Krishan Rastogi
* हासिल होती जीत *
* हासिल होती जीत *
surenderpal vaidya
Nothing you love is lost. Not really. Things, people—they al
Nothing you love is lost. Not really. Things, people—they al
पूर्वार्थ
हम भारतीयों की बात ही निराली है ....
हम भारतीयों की बात ही निराली है ....
ओनिका सेतिया 'अनु '
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
*भाग्य विधाता देश के, शिक्षक तुम्हें प्रणाम (कुंडलिया)*
*भाग्य विधाता देश के, शिक्षक तुम्हें प्रणाम (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
भाई
भाई
Kanchan verma
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
"फितरत"
Ekta chitrangini
कर ही बैठे हैं हम खता देखो
कर ही बैठे हैं हम खता देखो
Dr Archana Gupta
जब भी आप निराशा के दौर से गुजर रहे हों, तब आप किसी गमगीन के
जब भी आप निराशा के दौर से गुजर रहे हों, तब आप किसी गमगीन के
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
प्रेम निभाना
प्रेम निभाना
लक्ष्मी सिंह
मेरे भईया
मेरे भईया
Dr fauzia Naseem shad
किसी मुस्क़ान की ख़ातिर ज़माना भूल जाते हैं
किसी मुस्क़ान की ख़ातिर ज़माना भूल जाते हैं
आर.एस. 'प्रीतम'
Loading...