Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Sep 2016 · 1 min read

क्यूँ हम वीरों की शहादत भूल जाते हैं?

ग़ज़ल (23.09.2016)

हर बार उसकी नापाक, आदत भूल जाते है
क्यूँ हम अपने वीरों की,शहादत भूल जाते हैं?

घड़ी बस दो घड़ी कुर्बानियों को याद करते है
ज़िन्दा सैनिकों की, क्यों इबादत भूल जाते हैं?

अगर हम भूल जाएँगे करगिल फिर वो लाएँगे
वो आफ़त के पुड़िया,हम आफ़त भूल जाते है।

अक्सर भूल जाते है,क्यूँ कमजोर है याददास्त?
उनके साजिशों के,क्यूँ अदावत भूल जाते है??

कहीं मैंने नहीं देखा, कहीं क्या आपने देखा?
अपनी शान हाथी को, महावत भूल जाते है??

वो रोटी-दाल में परेशां, हम शौक़ में busy
हम में और भी जो है, महारत भूल जाते हैं।

©आनंद बिहारी, चंडीगढ़
https://m.facebook.com/anandbiharilive

10 Comments · 1192 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
प्यार करें भी तो किससे, हर जज़्बात में खलइश है।
प्यार करें भी तो किससे, हर जज़्बात में खलइश है।
manjula chauhan
गीत
गीत
Shiva Awasthi
वो शिकायत भी मुझसे करता है
वो शिकायत भी मुझसे करता है
Shweta Soni
नारी पुरुष
नारी पुरुष
Neeraj Agarwal
Yesterday ? Night
Yesterday ? Night
Otteri Selvakumar
मां शैलपुत्री
मां शैलपुत्री
Mukesh Kumar Sonkar
If you want to be in my life, I have to give you two news...
If you want to be in my life, I have to give you two news...
पूर्वार्थ
"दण्डकारण्य"
Dr. Kishan tandon kranti
कुछ बच्चों के परीक्षा परिणाम आने वाले है
कुछ बच्चों के परीक्षा परिणाम आने वाले है
ओनिका सेतिया 'अनु '
12 fail ..👇
12 fail ..👇
Shubham Pandey (S P)
दिल की हरकते दिल ही जाने,
दिल की हरकते दिल ही जाने,
Lakhan Yadav
आँख दिखाना आपका,
आँख दिखाना आपका,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सिंहासन पावन करो, लम्बोदर भगवान ।
सिंहासन पावन करो, लम्बोदर भगवान ।
जगदीश शर्मा सहज
जिन सपनों को पाने के लिए किसी के साथ छल करना पड़े वैसे सपने
जिन सपनों को पाने के लिए किसी के साथ छल करना पड़े वैसे सपने
Paras Nath Jha
बेहतरीन इंसान वो है
बेहतरीन इंसान वो है
शेखर सिंह
ध्वनि प्रदूषण कर दो अब कम
ध्वनि प्रदूषण कर दो अब कम
Buddha Prakash
मै खामोश हूँ , कमज़ोर नहीं , मेरे सब्र का  इम्तेहान न ले ,
मै खामोश हूँ , कमज़ोर नहीं , मेरे सब्र का इम्तेहान न ले ,
Neelofar Khan
घड़ी का इंतजार है
घड़ी का इंतजार है
Surinder blackpen
तुम्हीं  से  मेरी   जिंदगानी  रहेगी।
तुम्हीं से मेरी जिंदगानी रहेगी।
Rituraj shivem verma
राष्ट्रीय किसान दिवस
राष्ट्रीय किसान दिवस
Akash Yadav
गर्मी की छुट्टी में होमवर्क (बाल कविता )
गर्मी की छुट्टी में होमवर्क (बाल कविता )
Ravi Prakash
*मासूम पर दया*
*मासूम पर दया*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
7. *मातृ-दिवस * स्व. माँ को समर्पित
7. *मातृ-दिवस * स्व. माँ को समर्पित
Dr .Shweta sood 'Madhu'
प्रार्थना (मधुमालती छन्द)
प्रार्थना (मधुमालती छन्द)
नाथ सोनांचली
" परदेशी पिया "
Pushpraj Anant
मेरे सपनों का भारत
मेरे सपनों का भारत
Neelam Sharma
फिर आई स्कूल की यादें
फिर आई स्कूल की यादें
Arjun Bhaskar
23/70.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/70.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
🥀*अज्ञानी की कलम*🥀
🥀*अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
■ सामयिक आलेख-
■ सामयिक आलेख-
*प्रणय प्रभात*
Loading...