Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Jan 2023 · 1 min read

क्या ग़लत मैंने किया

सोच समझ कर देखो,क्या ग़लत मैंने किया ।
जीवन मेरा था तो खुद ही फैसला लिया।

औरत हूं तो क्या सोचने समझने की शक्ति नहीं।
बढ़ रही हूं मंजिलों की तरफ,राह मैं भटकी नहीं।

खूब बातें और ताने जीवन में अब सह लिये
बहने थे जितने आंसू,आंख से वो बह लिए।

रोक न पाओगे मुझको,भरनी मुझको उड़ान।
बांह फैलाते उड़ जाऊं,नापना है आसमान।

ग़लती का पुतला है मानव,डर मन में बसाना नहीं
नमी शुरुआत करो कहीं से , लेकिन घबराना नहीं

सुरिंदर कौर

Language: Hindi
227 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Surinder blackpen
View all
You may also like:
मन तो बावरा है
मन तो बावरा है
हिमांशु Kulshrestha
मैं इश्क़ की बातें ना भी करूं फ़िर भी वो इश्क़ ही समझती है
मैं इश्क़ की बातें ना भी करूं फ़िर भी वो इश्क़ ही समझती है
Nilesh Premyogi
शिक्षक
शिक्षक
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
आवारा परिंदा
आवारा परिंदा
साहित्य गौरव
* पावन धरा *
* पावन धरा *
surenderpal vaidya
लहजा समझ आ जाता है
लहजा समझ आ जाता है
पूर्वार्थ
"" *रिश्ते* ""
सुनीलानंद महंत
आज मैं एक नया गीत लिखता हूँ।
आज मैं एक नया गीत लिखता हूँ।
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
मैं नहीं, तू ख़ुश रहीं !
मैं नहीं, तू ख़ुश रहीं !
The_dk_poetry
#मुक्तक
#मुक्तक
*प्रणय प्रभात*
खेल सारा सोच का है, हार हो या जीत हो।
खेल सारा सोच का है, हार हो या जीत हो।
Yogi Yogendra Sharma : Motivational Speaker
दुनियादारी....
दुनियादारी....
Abhijeet
अपनी सोच
अपनी सोच
Ravi Maurya
हमारी योग्यता पर सवाल क्यो १
हमारी योग्यता पर सवाल क्यो १
भरत कुमार सोलंकी
उल्फ़त का  आगाज़ हैं, आँखों के अल्फाज़ ।
उल्फ़त का आगाज़ हैं, आँखों के अल्फाज़ ।
sushil sarna
पवित्रता की प्रतिमूर्ति : सैनिक शिवराज बहादुर सक्सेना*
पवित्रता की प्रतिमूर्ति : सैनिक शिवराज बहादुर सक्सेना*
Ravi Prakash
अकेलापन
अकेलापन
लक्ष्मी सिंह
"चालाकी"
Ekta chitrangini
.....,
.....,
शेखर सिंह
राह मुझको दिखाना, गर गलत कदम हो मेरा
राह मुझको दिखाना, गर गलत कदम हो मेरा
gurudeenverma198
माटी की सोंधी महक (नील पदम् के दोहे)
माटी की सोंधी महक (नील पदम् के दोहे)
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
Pain of separation
Pain of separation
Bidyadhar Mantry
हिन्दू जागरण गीत
हिन्दू जागरण गीत
मनोज कर्ण
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
श्रीराम गिलहरी संवाद अष्टपदी
श्रीराम गिलहरी संवाद अष्टपदी
SHAILESH MOHAN
3412⚘ *पूर्णिका* ⚘
3412⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
चंदा मामा और चंद्रयान
चंदा मामा और चंद्रयान
Ram Krishan Rastogi
वो तेरा है ना तेरा था (सत्य की खोज)
वो तेरा है ना तेरा था (सत्य की खोज)
VINOD CHAUHAN
कशमें मेरे नाम की।
कशमें मेरे नाम की।
Diwakar Mahto
वीर वैभव श्रृंगार हिमालय🏔️⛰️🏞️🌅
वीर वैभव श्रृंगार हिमालय🏔️⛰️🏞️🌅
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
Loading...