Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Apr 2023 · 1 min read

“कोढ़े की रोटी”

“कोढ़े की रोटी”
धान की अति बारीक भूसी
सूपे से छनकी हुई होती,
फिर भाप के घर में रखकर
दादी पकाती गरमागरम रोटी।
परिवार के सारे लोगों की
वो भूख भगा जाती,
अकाल के खिलाफ़ जंग में
सैनिक की तरह शहीद हो जाती।

13 Likes · 6 Comments · 260 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
कोरोना चालीसा
कोरोना चालीसा
नंदलाल सिंह 'कांतिपति'
काश लौट कर आए वो पुराने जमाने का समय ,
काश लौट कर आए वो पुराने जमाने का समय ,
Shashi kala vyas
एहसास
एहसास
भरत कुमार सोलंकी
To improve your mood, exercise
To improve your mood, exercise
पूर्वार्थ
★मृदा में मेरी आस ★
★मृदा में मेरी आस ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
अपनी सूरत
अपनी सूरत
Dr fauzia Naseem shad
मेरी फितरत
मेरी फितरत
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
वक्त बड़ा बेरहम होता है साहब अपने साथ इंसान से जूड़ी हर यादो
वक्त बड़ा बेरहम होता है साहब अपने साथ इंसान से जूड़ी हर यादो
Ranjeet kumar patre
'तिमिर पर ज्योति'🪔🪔
'तिमिर पर ज्योति'🪔🪔
पंकज कुमार कर्ण
मेरी जिंदगी में मेरा किरदार बस इतना ही था कि कुछ अच्छा कर सकूँ
मेरी जिंदगी में मेरा किरदार बस इतना ही था कि कुछ अच्छा कर सकूँ
Jitendra kumar
पानी बचाऍं (बाल कविता)
पानी बचाऍं (बाल कविता)
Ravi Prakash
सजी सारी अवध नगरी , सभी के मन लुभाए हैं
सजी सारी अवध नगरी , सभी के मन लुभाए हैं
Rita Singh
हार से भी जीत जाना सीख ले।
हार से भी जीत जाना सीख ले।
सत्य कुमार प्रेमी
सत्यम शिवम सुंदरम
सत्यम शिवम सुंदरम
Harminder Kaur
ईश्वर
ईश्वर
Neeraj Agarwal
ट्यूशन उद्योग
ट्यूशन उद्योग
Dr. Pradeep Kumar Sharma
समझ आती नहीं है
समझ आती नहीं है
हिमांशु Kulshrestha
वो इश्क़ कहलाता है !
वो इश्क़ कहलाता है !
Akash Yadav
आज वक्त हूं खराब
आज वक्त हूं खराब
साहित्य गौरव
नए वर्ष की इस पावन बेला में
नए वर्ष की इस पावन बेला में
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
Indulge, Live and Love
Indulge, Live and Love
Dhriti Mishra
शीर्षक – फूलों के सतरंगी आंचल तले,
शीर्षक – फूलों के सतरंगी आंचल तले,
Sonam Puneet Dubey
दोहा
दोहा
दुष्यन्त 'बाबा'
गरिमामय प्रतिफल
गरिमामय प्रतिफल
Shyam Sundar Subramanian
#OMG
#OMG
*Author प्रणय प्रभात*
তুমি এলে না
তুমি এলে না
goutam shaw
जीवन के सफ़र में
जीवन के सफ़र में
Surinder blackpen
2713.*पूर्णिका*
2713.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
बाल कविता: चूहे की शादी
बाल कविता: चूहे की शादी
Rajesh Kumar Arjun
मां सिद्धिदात्री
मां सिद्धिदात्री
Mukesh Kumar Sonkar
Loading...