Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Jul 2023 · 1 min read

केवल मन में इच्छा रखने से जीवन में कोई बदलाव आने से रहा।

केवल मन में इच्छा रखने से जीवन में कोई बदलाव आने से रहा। इसके लिए संकल्प करना पड़ता है।

Paras Nath Jha

156 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Paras Nath Jha
View all
You may also like:
मानव  इनको हम कहें,
मानव इनको हम कहें,
sushil sarna
शांति से खाओ और खिलाओ
शांति से खाओ और खिलाओ
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
अदालत में क्रन्तिकारी मदनलाल धींगरा की सिंह-गर्जना
अदालत में क्रन्तिकारी मदनलाल धींगरा की सिंह-गर्जना
कवि रमेशराज
जीवन -जीवन होता है
जीवन -जीवन होता है
Dr fauzia Naseem shad
2833. *पूर्णिका*
2833. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
रौशनी अकूत अंदर,
रौशनी अकूत अंदर,
Satish Srijan
कुदरत मुझको रंग दे
कुदरत मुझको रंग दे
Gurdeep Saggu
मईया एक सहारा
मईया एक सहारा
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
चरित्र साफ शब्दों में कहें तो आपके मस्तिष्क में समाहित विचार
चरित्र साफ शब्दों में कहें तो आपके मस्तिष्क में समाहित विचार
Rj Anand Prajapati
Love yourself
Love yourself
आकांक्षा राय
खुद से सिफारिश कर लेते हैं
खुद से सिफारिश कर लेते हैं
Smriti Singh
वो सुन के इस लिए मुझको जवाब देता नहीं
वो सुन के इस लिए मुझको जवाब देता नहीं
Aadarsh Dubey
सवाल~
सवाल~
दिनेश एल० "जैहिंद"
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
*राज दिल के वो हम से छिपाते रहे*
*राज दिल के वो हम से छिपाते रहे*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
हास्य का प्रहार लोगों पर न करना
हास्य का प्रहार लोगों पर न करना
DrLakshman Jha Parimal
#इधर_सेवा_उधर_मेवा।
#इधर_सेवा_उधर_मेवा।
*Author प्रणय प्रभात*
नेताजी (कविता)
नेताजी (कविता)
Artist Sudhir Singh (सुधीरा)
इश्क़ ❤️
इश्क़ ❤️
Skanda Joshi
पतझड़ के दिन
पतझड़ के दिन
DESH RAJ
प्रतीक्षा
प्रतीक्षा
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
"सचमुच"
Dr. Kishan tandon kranti
फर्श पर हम चलते हैं
फर्श पर हम चलते हैं
Neeraj Agarwal
ऐलान कर दिया....
ऐलान कर दिया....
डॉ.सीमा अग्रवाल
*
*"शिक्षक"*
Shashi kala vyas
ख़राब आदमी
ख़राब आदमी
Dr MusafiR BaithA
तुम मत खुरेचना प्यार में ,पत्थरों और वृक्षों के सीने
तुम मत खुरेचना प्यार में ,पत्थरों और वृक्षों के सीने
श्याम सिंह बिष्ट
💐प्रेम कौतुक-174💐
💐प्रेम कौतुक-174💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
भारत को हिंदू राष्ट्र बनाने का उपाय
भारत को हिंदू राष्ट्र बनाने का उपाय
Shekhar Chandra Mitra
Loading...