Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Mar 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-377💐

कुछ कहो तो दिन रात लिखूँ,
सुनो तो सही हर बात लिखूँ,
मुझसे बे-एतिबार मत कहना,
तुम्हारे इश्क़ की क़िताब लिखूँ।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
405 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
23/29.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/29.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
देख स्वप्न सी उर्वशी,
देख स्वप्न सी उर्वशी,
sushil sarna
🙏*गुरु चरणों की धूल*🙏
🙏*गुरु चरणों की धूल*🙏
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
जला रहा हूँ ख़ुद को
जला रहा हूँ ख़ुद को
Akash Yadav
"ख़्वाहिश"
Dr. Kishan tandon kranti
सुन लेते तुम मेरी सदाएं हम भी रो लेते
सुन लेते तुम मेरी सदाएं हम भी रो लेते
Rashmi Ranjan
The thing which is there is not wanted
The thing which is there is not wanted
कवि दीपक बवेजा
जन अधिनायक ! मंगल दायक! भारत देश सहायक है।
जन अधिनायक ! मंगल दायक! भारत देश सहायक है।
Neelam Sharma
6. शहर पुराना
6. शहर पुराना
Rajeev Dutta
आज का महाभारत 2
आज का महाभारत 2
Dr. Pradeep Kumar Sharma
सोचना नहीं कि तुमको भूल गया मैं
सोचना नहीं कि तुमको भूल गया मैं
gurudeenverma198
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
रक्षक या भक्षक
रक्षक या भक्षक
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
श्री गणेश स्तुति (भक्ति गीत)
श्री गणेश स्तुति (भक्ति गीत)
Ravi Prakash
माँ का घर (नवगीत) मातृदिवस पर विशेष
माँ का घर (नवगीत) मातृदिवस पर विशेष
ईश्वर दयाल गोस्वामी
जब कोई दिल से जाता है
जब कोई दिल से जाता है
Sangeeta Beniwal
Happy Father's Day
Happy Father's Day
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
मोहब्बत ना-समझ होती है समझाना ज़रूरी है
मोहब्बत ना-समझ होती है समझाना ज़रूरी है
Rituraj shivem verma
चाहत
चाहत
Sûrëkhâ
दुनियाँ की भीड़ में।
दुनियाँ की भीड़ में।
Taj Mohammad
खामोश आवाज़
खामोश आवाज़
Dr. Seema Varma
अपनी घड़ी उतार कर किसी को तोहफे ना देना...
अपनी घड़ी उतार कर किसी को तोहफे ना देना...
shabina. Naaz
Sometimes you have to
Sometimes you have to
Prachi Verma
ग़ज़ल -
ग़ज़ल -
Mahendra Narayan
ख्वाब आँखों में सजा कर,
ख्वाब आँखों में सजा कर,
लक्ष्मी सिंह
परिवर्तन
परिवर्तन
Paras Nath Jha
ज़िंदगी को इस तरह
ज़िंदगी को इस तरह
Dr fauzia Naseem shad
ठीक है
ठीक है
Neeraj Agarwal
मतदान जरूरी है - हरवंश हृदय
मतदान जरूरी है - हरवंश हृदय
हरवंश हृदय
Dr . Arun Kumar Shastri - ek abodh balak
Dr . Arun Kumar Shastri - ek abodh balak
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Loading...