Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Mar 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-421💐

किसी रोज़ इक मुलाक़ात का इंतिज़ार करें,
अहल-ए-दिल हैं वफ़ा पे वो क्यों सवाल करें,
ये भी इक तरक्की है इश्क़ की राहों पर सुनो,
मुतमइन होके रहे क्यों फ़ुज़ूल में बवाल करें।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
368 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
अपने अच्छे कर्मों से अपने व्यक्तित्व को हम इतना निखार लें कि
अपने अच्छे कर्मों से अपने व्यक्तित्व को हम इतना निखार लें कि
Paras Nath Jha
धनतेरस जुआ कदापि न खेलें
धनतेरस जुआ कदापि न खेलें
कवि रमेशराज
तुंग द्रुम एक चारु 🌿☘️🍁☘️
तुंग द्रुम एक चारु 🌿☘️🍁☘️
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
पंचतत्वों (अग्नि, वायु, जल, पृथ्वी, आकाश) के अलावा केवल
पंचतत्वों (अग्नि, वायु, जल, पृथ्वी, आकाश) के अलावा केवल "हृद
Radhakishan R. Mundhra
ये भी क्या जीवन है,जिसमें श्रृंगार भी किया जाए तो किसी के ना
ये भी क्या जीवन है,जिसमें श्रृंगार भी किया जाए तो किसी के ना
Shweta Soni
समझदारी ने दिया धोखा*
समझदारी ने दिया धोखा*
Rajni kapoor
* प्रेम पथ पर *
* प्रेम पथ पर *
surenderpal vaidya
रेत घड़ी / मुसाफ़िर बैठा
रेत घड़ी / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
हुई बात तो बात से,
हुई बात तो बात से,
sushil sarna
"" *जीवन आसान नहीं* ""
सुनीलानंद महंत
भीड से निकलने की
भीड से निकलने की
Harminder Kaur
राम : लघुकथा
राम : लघुकथा
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
तेरी महफ़िल में सभी लोग थे दिलबर की तरह
तेरी महफ़िल में सभी लोग थे दिलबर की तरह
Sarfaraz Ahmed Aasee
I
I
Ranjeet kumar patre
रचो महोत्सव
रचो महोत्सव
लक्ष्मी सिंह
■ आज का शेर-
■ आज का शेर-
*Author प्रणय प्रभात*
देश भक्ति का ढोंग
देश भक्ति का ढोंग
बिमल तिवारी “आत्मबोध”
*जीवन सरल जिएँ हम प्रभु जी ! सीधा सच्चा सादा (भक्ति-गीत)*
*जीवन सरल जिएँ हम प्रभु जी ! सीधा सच्चा सादा (भक्ति-गीत)*
Ravi Prakash
जिंदगी
जिंदगी
Neeraj Agarwal
मित्र बनाने से पहले आप भली भाँति जाँच और परख लें ! आपके विचा
मित्र बनाने से पहले आप भली भाँति जाँच और परख लें ! आपके विचा
DrLakshman Jha Parimal
विषम परिस्थितियों से डरना नहीं,
विषम परिस्थितियों से डरना नहीं,
Trishika S Dhara
-  मिलकर उससे
- मिलकर उससे
Seema gupta,Alwar
2601.पूर्णिका
2601.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
नास्तिकों और पाखंडियों के बीच का प्रहसन तो ठीक है,
नास्तिकों और पाखंडियों के बीच का प्रहसन तो ठीक है,
शेखर सिंह
सुरसरि-सा निर्मल बहे, कर ले मन में गेह।
सुरसरि-सा निर्मल बहे, कर ले मन में गेह।
डॉ.सीमा अग्रवाल
*पहचान* – अहोभाग्य
*पहचान* – अहोभाग्य
DR ARUN KUMAR SHASTRI
*जी लो ये पल*
*जी लो ये पल*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
बे-ख़ुद
बे-ख़ुद
Shyam Sundar Subramanian
देश के राजनीतिज्ञ
देश के राजनीतिज्ञ
विजय कुमार अग्रवाल
“Do not be afraid of your difficulties. Do not wish you coul
“Do not be afraid of your difficulties. Do not wish you coul
पूर्वार्थ
Loading...