Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Oct 2023 · 1 min read

किसी दर्दमंद के घाव पर

किसी दर्दमंद के घाव पर
मरहम लगा दे तू अगर,
परवान हो तेरी बन्दगी
गोविंद के दरबार में।

146 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Satish Srijan
View all
You may also like:
अपनी सरहदें जानते है आसमां और जमीन...!
अपनी सरहदें जानते है आसमां और जमीन...!
Aarti sirsat
उदास आँखों से जिस का रस्ता मैं एक मुद्दत से तक रहा था
उदास आँखों से जिस का रस्ता मैं एक मुद्दत से तक रहा था
Aadarsh Dubey
हे पिता
हे पिता
अनिल मिश्र
बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर जी की १३२ वीं जयंती
बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर जी की १३२ वीं जयंती
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
प्रेम नि: शुल्क होते हुए भी
प्रेम नि: शुल्क होते हुए भी
प्रेमदास वसु सुरेखा
माँ सरस्वती अन्तर्मन मन में..
माँ सरस्वती अन्तर्मन मन में..
Vijay kumar Pandey
कुशादा
कुशादा
Mamta Rani
शब्द शब्द उपकार तेरा ,शब्द बिना सब सून
शब्द शब्द उपकार तेरा ,शब्द बिना सब सून
Namrata Sona
आप ही बदल गए
आप ही बदल गए
Pratibha Pandey
वेलेंटाइन डे
वेलेंटाइन डे
Dr. Pradeep Kumar Sharma
Speciality comes from the new arrival .
Speciality comes from the new arrival .
Sakshi Tripathi
एक औरत रेशमी लिबास और गहनों में इतनी सुंदर नहीं दिखती जितनी
एक औरत रेशमी लिबास और गहनों में इतनी सुंदर नहीं दिखती जितनी
Annu Gurjar
दीदार
दीदार
Vandna thakur
कोना मेरे नाम का
कोना मेरे नाम का
Dr.Priya Soni Khare
जब से देखा है तुमको
जब से देखा है तुमको
Ram Krishan Rastogi
विश्वकप-2023
विश्वकप-2023
World Cup-2023 Top story (विश्वकप-2023, भारत)
राम आए हैं भाई रे
राम आए हैं भाई रे
Harinarayan Tanha
गज़ल सी कविता
गज़ल सी कविता
Kanchan Khanna
"
*Author प्रणय प्रभात*
Everything happens for a reason. There are no coincidences.
Everything happens for a reason. There are no coincidences.
पूर्वार्थ
!! कुछ दिन और !!
!! कुछ दिन और !!
Chunnu Lal Gupta
दर्पण दिखाना नहीं है
दर्पण दिखाना नहीं है
surenderpal vaidya
"सूप"
Dr. Kishan tandon kranti
जिंदगी में इतना खुश रहो कि,
जिंदगी में इतना खुश रहो कि,
Ranjeet kumar patre
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
24/238. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
24/238. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
चेहरे का यह सबसे सुन्दर  लिबास  है
चेहरे का यह सबसे सुन्दर लिबास है
Anil Mishra Prahari
राह हमारे विद्यालय की
राह हमारे विद्यालय की
bhandari lokesh
দারিদ্রতা ,রঙ্গভেদ ,
দারিদ্রতা ,রঙ্গভেদ ,
DrLakshman Jha Parimal
जरूरत से ज़ियादा जरूरी नहीं हैं हम
जरूरत से ज़ियादा जरूरी नहीं हैं हम
सिद्धार्थ गोरखपुरी
Loading...