Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Jun 2023 · 1 min read

किसी की प्रशंसा एक हद में ही करो ताकि प्रशंसा एवं ‘खुजाने’ म

किसी की प्रशंसा एक हद में ही करो ताकि प्रशंसा एवं ‘खुजाने’ में फ़र्क बना रहे!

2 Likes · 229 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr MusafiR BaithA
View all
You may also like:
मत छोड़ो गॉंव
मत छोड़ो गॉंव
Dr. Kishan tandon kranti
-शेखर सिंह
-शेखर सिंह
शेखर सिंह
आकाश दीप - (6 of 25 )
आकाश दीप - (6 of 25 )
Kshma Urmila
तुम तो मुठ्ठी भर हो, तुम्हारा क्या, हम 140 करोड़ भारतीयों का भाग्य उलझ जाएगा
तुम तो मुठ्ठी भर हो, तुम्हारा क्या, हम 140 करोड़ भारतीयों का भाग्य उलझ जाएगा
Anand Kumar
अपने सपनों के लिए
अपने सपनों के लिए
हिमांशु Kulshrestha
“मत लड़, ऐ मुसाफिर”
“मत लड़, ऐ मुसाफिर”
पंकज कुमार कर्ण
*शब्द*
*शब्द*
Sûrëkhâ
चाय की चुस्की संग
चाय की चुस्की संग
Surinder blackpen
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
♥️मां ♥️
♥️मां ♥️
Vandna thakur
*आदत*
*आदत*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
धोखा
धोखा
Paras Nath Jha
हार में जीत है, रार में प्रीत है।
हार में जीत है, रार में प्रीत है।
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
बरसात हुई
बरसात हुई
Surya Barman
“दुमका दर्पण” (संस्मरण -प्राइमेरी स्कूल-1958)
“दुमका दर्पण” (संस्मरण -प्राइमेरी स्कूल-1958)
DrLakshman Jha Parimal
गीतांश....
गीतांश....
Yogini kajol Pathak
*अर्थ करवाचौथ का (गीतिका)*
*अर्थ करवाचौथ का (गीतिका)*
Ravi Prakash
मेरा कान्हा जो मुझसे जुदा हो गया
मेरा कान्हा जो मुझसे जुदा हो गया
कृष्णकांत गुर्जर
हर किसी के लिए मौसम सुहाना नहीं होता,
हर किसी के लिए मौसम सुहाना नहीं होता,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
वेलेंटाइन डे आशिकों का नवरात्र है उनको सारे डे रोज, प्रपोज,च
वेलेंटाइन डे आशिकों का नवरात्र है उनको सारे डे रोज, प्रपोज,च
Rj Anand Prajapati
आस्मां से ज़मीं तक मुहब्बत रहे
आस्मां से ज़मीं तक मुहब्बत रहे
Monika Arora
रमणीय प्रेयसी
रमणीय प्रेयसी
Pratibha Pandey
सफर पे निकल गये है उठा कर के बस्ता
सफर पे निकल गये है उठा कर के बस्ता
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
आज की पंक्तिजन्म जन्म का साथ
आज की पंक्तिजन्म जन्म का साथ
कार्तिक नितिन शर्मा
😢आज का शेर😢
😢आज का शेर😢
*प्रणय प्रभात*
आश्रित.......
आश्रित.......
Naushaba Suriya
बिन माली बाग नहीं खिलता
बिन माली बाग नहीं खिलता
krishna waghmare , कवि,लेखक,पेंटर
Aaj Aankhe nam Hain,🥹
Aaj Aankhe nam Hain,🥹
SPK Sachin Lodhi
संस्कारी बड़ी - बड़ी बातें करना अच्छी बात है, इनको जीवन में
संस्कारी बड़ी - बड़ी बातें करना अच्छी बात है, इनको जीवन में
Lokesh Sharma
मेरा बचपन
मेरा बचपन
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
Loading...