Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Sep 2022 · 1 min read

कश्मीर फाइल्स

पूरा काश्मीर जब हमारा है तो
कोई काश्मीरी ग़ैर कैसे हुआ?
अपने ही देश के एक हिस्से से
लोगों को इतना वैर कैसे हुआ?
अगर भारत हमारी माता है तो
काश्मीरी भी हमारे भाई हुए न!
एक भाई की तबाही का माने
दूसरे भाई का ख़ैर कैसे हुआ?
Shekhar Chandra Mitra #JammuAndKashmir #उत्पीड़न
#जातीय #हिंसा #बराबरी #Lynching
#जलताहैकश्मीर #KashmirFiles
#Hate #नफ़रत #communal #धर्मांध

Language: Hindi
151 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
दीपावली
दीपावली
डॉ. शिव लहरी
जिंदगी से कुछ यू निराश हो जाते हैं
जिंदगी से कुछ यू निराश हो जाते हैं
Ranjeet kumar patre
छह दोहे
छह दोहे
Ravi Prakash
🌹पत्नी🌹
🌹पत्नी🌹
Dr .Shweta sood 'Madhu'
मास्टर जी का चमत्कारी डंडा🙏
मास्टर जी का चमत्कारी डंडा🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
क्या हिसाब दूँ
क्या हिसाब दूँ
हिमांशु Kulshrestha
नीम
नीम
Dr. Pradeep Kumar Sharma
---- विश्वगुरु ----
---- विश्वगुरु ----
सूरज राम आदित्य (Suraj Ram Aditya)
तस्वीर!
तस्वीर!
कविता झा ‘गीत’
प्रेम
प्रेम
Sanjay ' शून्य'
2626.पूर्णिका
2626.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
धमकियां शुरू हो गई
धमकियां शुरू हो गई
Basant Bhagawan Roy
वो इश्क जो कभी किसी ने न किया होगा
वो इश्क जो कभी किसी ने न किया होगा
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
"तेरे लिए.." ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
■ आज का चिंतन...
■ आज का चिंतन...
*प्रणय प्रभात*
साथ चली किसके भला,
साथ चली किसके भला,
sushil sarna
शब्द ढ़ाई अक्षर के होते हैं
शब्द ढ़ाई अक्षर के होते हैं
Sonam Puneet Dubey
*मर्यादा पुरूषोत्तम राम*
*मर्यादा पुरूषोत्तम राम*
Shashi kala vyas
समझदारी शांति से झलकती हैं, और बेवकूफ़ी अशांति से !!
समझदारी शांति से झलकती हैं, और बेवकूफ़ी अशांति से !!
Lokesh Sharma
वो भी तिरी मानिंद मिरे हाल पर मुझ को छोड़ कर
वो भी तिरी मानिंद मिरे हाल पर मुझ को छोड़ कर
Trishika S Dhara
प्रेम का सौदा कभी सहानुभूति से मत करिए ....
प्रेम का सौदा कभी सहानुभूति से मत करिए ....
पूर्वार्थ
कसम खाकर मैं कहता हूँ कि उस दिन मर ही जाता हूँ
कसम खाकर मैं कहता हूँ कि उस दिन मर ही जाता हूँ
Johnny Ahmed 'क़ैस'
द्रवित हृदय जो भर जाए तो, नयन सलोना रो देता है
द्रवित हृदय जो भर जाए तो, नयन सलोना रो देता है
Yogini kajol Pathak
"कविता और प्रेम"
Dr. Kishan tandon kranti
स्वभाव
स्वभाव
अखिलेश 'अखिल'
The only difference between dreams and reality is perfection
The only difference between dreams and reality is perfection
सिद्धार्थ गोरखपुरी
नारी....एक सच
नारी....एक सच
Neeraj Agarwal
वो तो एक पहेली हैं
वो तो एक पहेली हैं
Dr. Mahesh Kumawat
पुनर्जागरण काल
पुनर्जागरण काल
Dr.Pratibha Prakash
क्या मिला है मुझको, अहम जो मैंने किया
क्या मिला है मुझको, अहम जो मैंने किया
gurudeenverma198
Loading...