Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 May 2024 · 1 min read

कविता 10 🌸माँ की छवि 🌸

10 *मातृ दिवस पर कविता *
==============
( -महिमा शुक्ला -इंदौर।)
🌸 माँ की छवि ‘🌸
====================
🌸 —माँ –🌸
==========
क्या कोई दिन भी माँ के नाम होता है ?
यूँ कहें माँ के नाम ही हर दिन होता है,
जिसने पाला – पोसा बड़ा किया हो
जिसने पहला कौर और बोल दिया हो.

अटकन बटकन चटकन का बचपन
सिख लिया माँ से पहले पहल अक्षर ज्ञान

खेल खेल में जब गिरते- पड़ते -लड़ते
बचपने की हर गलती पर डपटा हो जिसने

मेल मिलाप की समझाइश पायी उनसे,
जीवन का पहला सबक मिला है उनसे

फिर धीरज से सहला जीवन मंत्र भी फूंका हो
कैसे जीना कैसे सीना अपनी हर उलझन को

कभी कह कर कभी इशारे से भी समझाया
जाने -अनजाने वह भी सीखा जो रहा अनकहा

कौन सा दिन होगा जब याद नहीं आयें वे
अपनी सबसे अच्छी पहली दोस्त सी माँ को ?
वह तो रची -बसी मन अंतर रक्त और मज्जा में
कैसे कोई भूले जन्म की साथी कर्म की संगी को?
माथे पर सजी गोल बड़ी लाल दमकती बिंदी
अंकित है मन में माँ की गौर -तेजस्वी अमिट छवि ।।
===================
स्वरचित –
महिमा शुक्ला
9589024135, इंदौर( म.प्र. )

Language: Hindi
1 Like · 43 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
क़िताबों में दफ़न है हसरत-ए-दिल के ख़्वाब मेरे,
क़िताबों में दफ़न है हसरत-ए-दिल के ख़्वाब मेरे,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
आम, नीम, पीपल, बरगद जैसे बड़े पेड़ काटकर..
आम, नीम, पीपल, बरगद जैसे बड़े पेड़ काटकर..
Ranjeet kumar patre
लार्जर देन लाइफ होने लगे हैं हिंदी फिल्मों के खलनायक -आलेख
लार्जर देन लाइफ होने लगे हैं हिंदी फिल्मों के खलनायक -आलेख
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
गीत
गीत
गुमनाम 'बाबा'
बात
बात
Ajay Mishra
लोगों के रिश्मतों में अक्सर
लोगों के रिश्मतों में अक्सर "मतलब" का वजन बहुत ज्यादा होता
Jogendar singh
संघर्ष हमारा जीतेगा,
संघर्ष हमारा जीतेगा,
Shweta Soni
अन्नदाता किसान
अन्नदाता किसान
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
तेरे जाने के बाद ....
तेरे जाने के बाद ....
ओनिका सेतिया 'अनु '
कौन कहता ये यहां नहीं है ?🙏
कौन कहता ये यहां नहीं है ?🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
आज के इस हाल के हम ही जिम्मेदार...
आज के इस हाल के हम ही जिम्मेदार...
डॉ.सीमा अग्रवाल
कोई नही है वास्ता
कोई नही है वास्ता
Surinder blackpen
7. तेरी याद
7. तेरी याद
Rajeev Dutta
आशा की किरण
आशा की किरण
Neeraj Agarwal
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर समस्त नारी शक्ति को सादर
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर समस्त नारी शक्ति को सादर
*प्रणय प्रभात*
अगर प्यार तुम हमसे करोगे
अगर प्यार तुम हमसे करोगे
gurudeenverma198
बाल कविता: तोता
बाल कविता: तोता
Rajesh Kumar Arjun
किसी का यकीन
किसी का यकीन
Dr fauzia Naseem shad
Go wherever, but only so far,
Go wherever, but only so far,"
पूर्वार्थ
*दाता माता ज्ञान की, तुमको कोटि प्रणाम ( कुंडलिया )*
*दाता माता ज्ञान की, तुमको कोटि प्रणाम ( कुंडलिया )*
Ravi Prakash
3426⚘ *पूर्णिका* ⚘
3426⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
होली है ....
होली है ....
Kshma Urmila
ध्यान में इक संत डूबा मुस्कुराए
ध्यान में इक संत डूबा मुस्कुराए
Shivkumar Bilagrami
'रामबाण' : धार्मिक विकार से चालित मुहावरेदार शब्द / DR. MUSAFIR BAITHA
'रामबाण' : धार्मिक विकार से चालित मुहावरेदार शब्द / DR. MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
“मेरे जीवन साथी”
“मेरे जीवन साथी”
DrLakshman Jha Parimal
बोलो राम राम
बोलो राम राम
नेताम आर सी
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
झोली मेरी प्रेम की
झोली मेरी प्रेम की
Sandeep Pande
इस महफ़िल में तमाम चेहरे हैं,
इस महफ़िल में तमाम चेहरे हैं,
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
मोदी का अर्थ महंगाई है ।
मोदी का अर्थ महंगाई है ।
Rj Anand Prajapati
Loading...