Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Feb 2017 · 1 min read

सकारात्मक सोच

सकारात्मक सोच होना चाहिये।
पाजिटिव एप्रोच होना चाहिये।।

एक जगह ही हो वजह पर,
सतत रोज होना चाहिये।।

चाह बनाले नई राह बना ले,
हरदम एक खोज होना चाहिये।।

कर सके अरपन देश पर जो
लोगों की ऐसी फौज होना चाहिये।।

गौतम बनो तुम गंभीर बनो तुम,
वाणी में तुम्हारे ओज होना चाहिये।।

जो भी है जैसा भी है मसला है,
पर मिलकरके भोज होना चाहिये।।

1 Like · 1 Comment · 315 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
आज़ादी के बाद भारत में हुए 5 सबसे बड़े भीषण रेल दुर्घटना
आज़ादी के बाद भारत में हुए 5 सबसे बड़े भीषण रेल दुर्घटना
Shakil Alam
आश पराई छोड़ दो,
आश पराई छोड़ दो,
Satish Srijan
* दिल के दायरे मे तस्वीर बना दो तुम *
* दिल के दायरे मे तस्वीर बना दो तुम *
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
तुम रंगदारी से भले ही,
तुम रंगदारी से भले ही,
Dr. Man Mohan Krishna
मैं ढूंढता हूं रातो - दिन कोई बशर मिले।
मैं ढूंढता हूं रातो - दिन कोई बशर मिले।
सत्य कुमार प्रेमी
सायलेंट किलर
सायलेंट किलर
Dr MusafiR BaithA
****वो जीवन मिले****
****वो जीवन मिले****
Kavita Chouhan
राम की आराधना
राम की आराधना
surenderpal vaidya
दोहे
दोहे
अशोक कुमार ढोरिया
💐प्रेम कौतुक-94💐
💐प्रेम कौतुक-94💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कर रही हूँ इंतज़ार
कर रही हूँ इंतज़ार
Rashmi Ranjan
एक विचार पर हमेशा गौर कीजियेगा
एक विचार पर हमेशा गौर कीजियेगा
शेखर सिंह
जीवन की धूल ..
जीवन की धूल ..
Shubham Pandey (S P)
भारत के बच्चे
भारत के बच्चे
Rajesh Tiwari
बड़े अगर कोई बात कहें तो उसे
बड़े अगर कोई बात कहें तो उसे
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
गीत गा लअ प्यार के
गीत गा लअ प्यार के
Shekhar Chandra Mitra
■ तंत्र का षड्यंत्र : भय फैलाना और लाभ उठाना।
■ तंत्र का षड्यंत्र : भय फैलाना और लाभ उठाना।
*Author प्रणय प्रभात*
*भारतीय क्रिकेटरों का जोश*
*भारतीय क्रिकेटरों का जोश*
Harminder Kaur
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बेमेल शादी!
बेमेल शादी!
कविता झा ‘गीत’
केशों से मुक्ता गिरे,
केशों से मुक्ता गिरे,
sushil sarna
3367.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3367.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
जूते और लोग..,
जूते और लोग..,
Vishal babu (vishu)
काजल
काजल
Neeraj Agarwal
Wait ( Intezaar)a precious moment of life:
Wait ( Intezaar)a precious moment of life:
पूर्वार्थ
8) “चन्द्रयान भारत की शान”
8) “चन्द्रयान भारत की शान”
Sapna Arora
बचपन
बचपन
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
हजारों के बीच भी हम तन्हा हो जाते हैं,
हजारों के बीच भी हम तन्हा हो जाते हैं,
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
*नारियों को आजकल, खुद से कमाना आ गया (हिंदी गजल/ गीतिका)*
*नारियों को आजकल, खुद से कमाना आ गया (हिंदी गजल/ गीतिका)*
Ravi Prakash
डर
डर
Sonam Puneet Dubey
Loading...