Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Nov 2023 · 1 min read

कभी धूप तो कभी बदली नज़र आयी,

कभी धूप तो कभी बदली नज़र आयी,
कभी पिछली तो कभी अगली नज़र आयी।
दीवानगी चढ़ी है मुझपर उसके इश्क की,
जिधर भी देखूं बस वो पगली नज़र आयी।।

*********📚*********
✍️राजेश कुमार अर्जुन

5 Likes · 139 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ज़िंदगी नाम बस
ज़िंदगी नाम बस
Dr fauzia Naseem shad
प्रीत निभाना
प्रीत निभाना
Pratibha Pandey
मदर्स डे (मातृत्व दिवस)
मदर्स डे (मातृत्व दिवस)
Dr. Kishan tandon kranti
पर्यावरण प्रतिभाग
पर्यावरण प्रतिभाग
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
वोट कर!
वोट कर!
Neelam Sharma
बन गए हम तुम्हारी याद में, कबीर सिंह
बन गए हम तुम्हारी याद में, कबीर सिंह
The_dk_poetry
*जीवन्त*
*जीवन्त*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
दोस्ती
दोस्ती
Mukesh Kumar Sonkar
एक ज़िद थी
एक ज़िद थी
हिमांशु Kulshrestha
आदित्य(सूरज)!
आदित्य(सूरज)!
Abhinay Krishna Prajapati-.-(kavyash)
ग़ज़ल (थाम लोगे तुम अग़र...)
ग़ज़ल (थाम लोगे तुम अग़र...)
डॉक्टर रागिनी
मेरा नाम
मेरा नाम
Yash mehra
कब मरा रावण
कब मरा रावण
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
देव्यपराधक्षमापन स्तोत्रम
देव्यपराधक्षमापन स्तोत्रम
पंकज प्रियम
"" *मौन अधर* ""
सुनीलानंद महंत
■ हाइकू पर हाइकू।।
■ हाइकू पर हाइकू।।
*Author प्रणय प्रभात*
राहें खुद हमसे सवाल करती हैं,
राहें खुद हमसे सवाल करती हैं,
Sunil Maheshwari
बढ़ती हुई समझ,
बढ़ती हुई समझ,
Shubham Pandey (S P)
जाने किस कातिल की नज़र में हूँ
जाने किस कातिल की नज़र में हूँ
Ravi Ghayal
3147.*पूर्णिका*
3147.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
स्पेशल अंदाज में बर्थ डे सेलिब्रेशन
स्पेशल अंदाज में बर्थ डे सेलिब्रेशन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मोल नहीं होता है देखो, सुन्दर सपनों का कोई।
मोल नहीं होता है देखो, सुन्दर सपनों का कोई।
surenderpal vaidya
बचाओं नीर
बचाओं नीर
krishna waghmare , कवि,लेखक,पेंटर
बुंदेली दोहा बिषय- बिर्रा
बुंदेली दोहा बिषय- बिर्रा
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
तेरे इश्क़ में थोड़े घायल से हैं,
तेरे इश्क़ में थोड़े घायल से हैं,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
इस जग में हैं हम सब साथी
इस जग में हैं हम सब साथी
Suryakant Dwivedi
॰॰॰॰॰॰यू॰पी की सैर॰॰॰॰॰॰
॰॰॰॰॰॰यू॰पी की सैर॰॰॰॰॰॰
Dr. Vaishali Verma
नहीं मतलब अब तुमसे, नहीं बात तुमसे करना
नहीं मतलब अब तुमसे, नहीं बात तुमसे करना
gurudeenverma198
श्री रामचरितमानस में कुछ स्थानों पर घटना एकदम से घटित हो जाती है ऐसे ही एक स्थान पर मैंने यह
श्री रामचरितमानस में कुछ स्थानों पर घटना एकदम से घटित हो जाती है ऐसे ही एक स्थान पर मैंने यह "reading between the lines" लिखा है
SHAILESH MOHAN
मंज़र
मंज़र
अखिलेश 'अखिल'
Loading...