Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Jan 2021 · 1 min read

कदमों में बिखर जाए।

छंद- रजनी आधारित गीतिका
मापनी- 2122 2122 2122 2
प्रदत्त पदांत- जाए
प्रदत्त समांत- अर

टूट कर हम आज कदमों में बिखर जाए।
दर तुम्हारा छोड़ कर बोलो किधर जाए।

ज़िन्दगी तेरे बिना मुश्किल हुआ जीना,
तुम कहो तो मौत के दरिया उतर जाए।

पड़ गई आदत तुम्हारी इस तरह देखो
दूरियों को सोच कर साँसें ठहर जाए।

बन गई हूँ हमसफ़र साथी तुम्हारी हूँ,
तुम चलोगे जिस डगर हम उस डगर जाए।

देह पावन हो गया देखो तुम्हें छूकर,
रूह में तुमको बसा कर हम सँवर जाए।

माँगती हूँ रात दिन इतना दुआओं में,
संग तेरे उम्र की घड़ियाँ गुजर जाए।
-लक्ष्मी सिंह
नई दिल्ली

3 Likes · 4 Comments · 317 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from लक्ष्मी सिंह
View all
You may also like:
😊 सियासी शेखचिल्ली😊
😊 सियासी शेखचिल्ली😊
*प्रणय प्रभात*
मेरी सोच~
मेरी सोच~
दिनेश एल० "जैहिंद"
इस जग में है प्रीत की,
इस जग में है प्रीत की,
sushil sarna
प्रतिश्रुति
प्रतिश्रुति
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जिंदगी
जिंदगी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
*पुस्तक*
*पुस्तक*
Dr. Priya Gupta
*धन्य-धन्य वे जिनका जीवन सत्संगों में बीता (मुक्तक)*
*धन्य-धन्य वे जिनका जीवन सत्संगों में बीता (मुक्तक)*
Ravi Prakash
सुबह -सुबह
सुबह -सुबह
Ghanshyam Poddar
मुफ्त राशन के नाम पर गरीबी छिपा रहे
मुफ्त राशन के नाम पर गरीबी छिपा रहे
VINOD CHAUHAN
बेटियां
बेटियां
Ram Krishan Rastogi
पहुँचाया है चाँद पर, सफ़ल हो गया यान
पहुँचाया है चाँद पर, सफ़ल हो गया यान
Dr Archana Gupta
नैतिकता की नींव पर प्रारंभ किये गये किसी भी व्यवसाय की सफलता
नैतिकता की नींव पर प्रारंभ किये गये किसी भी व्यवसाय की सफलता
Paras Nath Jha
डाल-डाल पर फल निकलेगा
डाल-डाल पर फल निकलेगा
Anil Mishra Prahari
*मैं वर्तमान की नारी हूं।*
*मैं वर्तमान की नारी हूं।*
Dushyant Kumar
परम प्रकाश उत्सव कार्तिक मास
परम प्रकाश उत्सव कार्तिक मास
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
शिव तेरा नाम
शिव तेरा नाम
Swami Ganganiya
क्षमा अपनापन करुणा।।
क्षमा अपनापन करुणा।।
Kaushal Kishor Bhatt
खिला हूं आजतक मौसम के थपेड़े सहकर।
खिला हूं आजतक मौसम के थपेड़े सहकर।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
हुआ क्या है
हुआ क्या है
Neelam Sharma
प्रियवर
प्रियवर
लक्ष्मी सिंह
https://youtube.com/@pratibhaprkash?si=WX_l35pU19NGJ_TX
https://youtube.com/@pratibhaprkash?si=WX_l35pU19NGJ_TX
Dr.Pratibha Prakash
जितने धैर्यता, सहनशीलता और दृढ़ता के साथ संकल्पित संघ के स्व
जितने धैर्यता, सहनशीलता और दृढ़ता के साथ संकल्पित संघ के स्व
जय लगन कुमार हैप्पी
वह इंसान नहीं
वह इंसान नहीं
Anil chobisa
नौका को सिन्धु में उतारो
नौका को सिन्धु में उतारो
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
सरकारों के बस में होता हालतों को सुधारना तो अब तक की सरकारें
सरकारों के बस में होता हालतों को सुधारना तो अब तक की सरकारें
REVATI RAMAN PANDEY
******जय श्री खाटूश्याम जी की*******
******जय श्री खाटूश्याम जी की*******
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
प्रेम की डोर सदैव नैतिकता की डोर से बंधती है और नैतिकता सत्क
प्रेम की डोर सदैव नैतिकता की डोर से बंधती है और नैतिकता सत्क
Sanjay ' शून्य'
"लोग क्या कहेंगे" सोच कर हताश मत होइए,
Radhakishan R. Mundhra
मैं नहीं हो सका, आपका आदतन
मैं नहीं हो सका, आपका आदतन
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
"मास्टर कौन?"
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...