Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Apr 2024 · 1 min read

*”ओ पथिक”*

“ओ पथिक”
चलते चलते जब पाँव थक कर चूर हो जाए ,
फिर भी कदम कभी रुक नहीं पाते।
काज कोई दुश्कर नही ,मार्ग में कंटक शूल चुभे डटकर आगे ही बढ़ते जाते।
थका हुआ तन पर मन में उमंग ,जोश कम नही कर पाते।
असीम कृपा शक्ति भुजाओं में ,एक जुनून लिए आगे ही बढ़ते जाते।
मेहनत से थकान महसूस होती ,कठिन परिश्रम कर के मेहनत ही रंग लाते।
मेहनत का मीठा फल ,नई ऊर्जा चेतना स्फूर्ति दे जाते।
थकान को पराजित कर ,नई ताकत से खड़े हो नया संदेश दे जाते।
रे ..! चल मन ,थक मत ,ऐ पथिक तू बढ़े चल बढ़े चल ..हार न मानना जब तक मुकाम हासिल न कर जाते।
शशिकला व्यास शिल्पी ✍️🌹

54 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*पाई जग में आयु है, सबने सौ-सौ वर्ष (कुंडलिया)*
*पाई जग में आयु है, सबने सौ-सौ वर्ष (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
#आस्था_पर्व-
#आस्था_पर्व-
*प्रणय प्रभात*
रमेशराज की कहमुकरी संरचना में 10 ग़ज़लें
रमेशराज की कहमुकरी संरचना में 10 ग़ज़लें
कवि रमेशराज
काजल की महीन रेखा
काजल की महीन रेखा
Awadhesh Singh
चाहो जिसे चाहो तो बेलौस होके चाहो
चाहो जिसे चाहो तो बेलौस होके चाहो
shabina. Naaz
शब की रातों में जब चाँद पर तारे हो जाते हैं,
शब की रातों में जब चाँद पर तारे हो जाते हैं,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
सापटी
सापटी
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
जाति-धर्म
जाति-धर्म
लक्ष्मी सिंह
Gazal 25
Gazal 25
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
प्रकृति
प्रकृति
Monika Verma
सावन और साजन
सावन और साजन
Ram Krishan Rastogi
ईश्वर अल्लाह गाड गुरु, अपने अपने राम
ईश्वर अल्लाह गाड गुरु, अपने अपने राम
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
"𝗜 𝗵𝗮𝘃𝗲 𝗻𝗼 𝘁𝗶𝗺𝗲 𝗳𝗼𝗿 𝗹𝗼𝘃𝗲."
पूर्वार्थ
चलो चलो तुम अयोध्या चलो
चलो चलो तुम अयोध्या चलो
gurudeenverma198
गिरिधारी छंद विधान (सउदाहरण )
गिरिधारी छंद विधान (सउदाहरण )
Subhash Singhai
अरबपतियों की सूची बेलगाम
अरबपतियों की सूची बेलगाम
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
कार्यशैली और विचार अगर अनुशासित हो,तो लक्ष्य को उपलब्धि में
कार्यशैली और विचार अगर अनुशासित हो,तो लक्ष्य को उपलब्धि में
Paras Nath Jha
मैं जब करीब रहता हूँ किसी के,
मैं जब करीब रहता हूँ किसी के,
Dr. Man Mohan Krishna
2787. *पूर्णिका*
2787. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
देख भाई, सामने वाले से नफ़रत करके एनर्जी और समय दोनो बर्बाद ह
देख भाई, सामने वाले से नफ़रत करके एनर्जी और समय दोनो बर्बाद ह
ruby kumari
ज्ञानों का महा संगम
ज्ञानों का महा संगम
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
तुझसे है मुझे प्यार ये बतला रहा हूॅं मैं।
तुझसे है मुझे प्यार ये बतला रहा हूॅं मैं।
सत्य कुमार प्रेमी
चिंतन और अनुप्रिया
चिंतन और अनुप्रिया
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
पुनर्वास
पुनर्वास
Dr. Pradeep Kumar Sharma
एक सूखा सा वृक्ष...
एक सूखा सा वृक्ष...
Awadhesh Kumar Singh
आने वाला कल
आने वाला कल
Dr. Upasana Pandey
ଅଦିନ ଝଡ
ଅଦିନ ଝଡ
Bidyadhar Mantry
शेष न बचा
शेष न बचा
इंजी. संजय श्रीवास्तव
अब मेरी मजबूरी देखो
अब मेरी मजबूरी देखो
VINOD CHAUHAN
काश ! लोग यह समझ पाते कि रिश्ते मनःस्थिति के ख्याल रखने हेतु
काश ! लोग यह समझ पाते कि रिश्ते मनःस्थिति के ख्याल रखने हेतु
मिथलेश सिंह"मिलिंद"
Loading...