Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Mar 2023 · 1 min read

“एल्बम”

“एल्बम”
जी हाँ, मैं एल्बम हूँ
यादों के इतिहास समेटे,
हर दौर के चित्रों को
अपने दामन में संजोते।
मान या न मान
जब-जब तुम देखोगे,
अतीत में खोकर अपने
मेरी उपयोगिता समझोगे।

5 Likes · 2 Comments · 169 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
बहर- 121 22 121 22 अरकान- मफ़उलु फ़ेलुन मफ़उलु फ़ेलुन
बहर- 121 22 121 22 अरकान- मफ़उलु फ़ेलुन मफ़उलु फ़ेलुन
Neelam Sharma
Ghazal
Ghazal
shahab uddin shah kannauji
*ऐनक (बाल कविता)*
*ऐनक (बाल कविता)*
Ravi Prakash
#नया_भारत 😊😊
#नया_भारत 😊😊
*प्रणय प्रभात*
मुर्दे भी मोहित हुए
मुर्दे भी मोहित हुए
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
जख्मो से भी हमारा रिश्ता इस तरह पुराना था
जख्मो से भी हमारा रिश्ता इस तरह पुराना था
कवि दीपक बवेजा
भूख
भूख
नाथ सोनांचली
I know that you are tired of being in this phase of life.I k
I know that you are tired of being in this phase of life.I k
पूर्वार्थ
हम भी बहुत अजीब हैं, अजीब थे, अजीब रहेंगे,
हम भी बहुत अजीब हैं, अजीब थे, अजीब रहेंगे,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
वो मुझे
वो मुझे "चिराग़" की ख़ैरात" दे रहा है
Dr Tabassum Jahan
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
3638.💐 *पूर्णिका* 💐
3638.💐 *पूर्णिका* 💐
Dr.Khedu Bharti
तुम गंगा की अल्हड़ धारा
तुम गंगा की अल्हड़ धारा
Sahil Ahmad
"प्रेम -मिलन '
DrLakshman Jha Parimal
Micro poem ...
Micro poem ...
sushil sarna
क्यूट हो सुंदर हो प्यारी सी लगती
क्यूट हो सुंदर हो प्यारी सी लगती
Jitendra Chhonkar
Red is red
Red is red
Dr. Vaishali Verma
सच ज़िंदगी के रंगमंच के साथ हैं
सच ज़िंदगी के रंगमंच के साथ हैं
Neeraj Agarwal
किताब कहीं खो गया
किताब कहीं खो गया
Shweta Soni
"दुम"
Dr. Kishan tandon kranti
इश्क
इश्क
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
Acrostic Poem- Human Values
Acrostic Poem- Human Values
jayanth kaweeshwar
।। धन तेरस ।।
।। धन तेरस ।।
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
उमर भर की जुदाई
उमर भर की जुदाई
Shekhar Chandra Mitra
!! पर्यावरण !!
!! पर्यावरण !!
Chunnu Lal Gupta
प्रतीक्षा
प्रतीक्षा
Shaily
तू सच में एक दिन लौट आएगी मुझे मालूम न था…
तू सच में एक दिन लौट आएगी मुझे मालूम न था…
Anand Kumar
बैठाया था जब अपने आंचल में उसने।
बैठाया था जब अपने आंचल में उसने।
Phool gufran
नारी के चरित्र पर
नारी के चरित्र पर
Dr fauzia Naseem shad
मनोकामना
मनोकामना
Mukesh Kumar Sonkar
Loading...