Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Dec 2023 · 1 min read

एक सही आदमी ही अपनी

एक सही आदमी ही अपनी
गलती को स्वीकार कर सकता है l

1 Like · 102 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सूर्य के ताप सी नित जले जिंदगी ।
सूर्य के ताप सी नित जले जिंदगी ।
Arvind trivedi
Quote...
Quote...
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
खामोशी की आहट
खामोशी की आहट
Buddha Prakash
किरणों का कोई रंग नहीं होता
किरणों का कोई रंग नहीं होता
Atul "Krishn"
भावुक हुए बहुत दिन हो गए
भावुक हुए बहुत दिन हो गए
Suryakant Dwivedi
मेरे प्रिय कलाम
मेरे प्रिय कलाम
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
तुम मेरी
तुम मेरी
Dr fauzia Naseem shad
जब दिल से दिल ही मिला नहीं,
जब दिल से दिल ही मिला नहीं,
manjula chauhan
मेरे जैसा
मेरे जैसा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
■ सगी तो खुशियां भी नहीं।
■ सगी तो खुशियां भी नहीं।
*Author प्रणय प्रभात*
रक्षाबंधन
रक्षाबंधन
Harminder Kaur
Jeevan ke is chor pr, shanshon ke jor pr
Jeevan ke is chor pr, shanshon ke jor pr
Anu dubey
नाजुक देह में ज्वाला पनपे
नाजुक देह में ज्वाला पनपे
कवि दीपक बवेजा
*दाँत मंजन रोजाना( कुंडलिया )*
*दाँत मंजन रोजाना( कुंडलिया )*
Ravi Prakash
यह समय / MUSAFIR BAITHA
यह समय / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
Finding alternative  is not as difficult as becoming alterna
Finding alternative is not as difficult as becoming alterna
Sakshi Tripathi
The enchanting whistle of the train.
The enchanting whistle of the train.
Manisha Manjari
सीधे साधे बोदा से हम नैन लड़ाने वाले लड़के
सीधे साधे बोदा से हम नैन लड़ाने वाले लड़के
कृष्णकांत गुर्जर
दिल का सौदा
दिल का सौदा
सरिता सिंह
3031.*पूर्णिका*
3031.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
श्री शूलपाणि
श्री शूलपाणि
Vivek saswat Shukla
औरत की नजर
औरत की नजर
Annu Gurjar
कीमत बढ़ानी है
कीमत बढ़ानी है
Roopali Sharma
तन पर हल्की  सी धुल लग जाए,
तन पर हल्की सी धुल लग जाए,
Shutisha Rajput
दोहे नौकरशाही
दोहे नौकरशाही
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
तीज मनाएँ रुक्मिणी...
तीज मनाएँ रुक्मिणी...
डॉ.सीमा अग्रवाल
"चाहत का घर"
Dr. Kishan tandon kranti
वृक्ष धरा की धरोहर है
वृक्ष धरा की धरोहर है
Neeraj Agarwal
पहाड़ में गर्मी नहीं लगती घाम बहुत लगता है।
पहाड़ में गर्मी नहीं लगती घाम बहुत लगता है।
Brijpal Singh
उम्र आते ही ....
उम्र आते ही ....
sushil sarna
Loading...