Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Dec 2023 · 1 min read

एक समझदार मां रोते हुए बच्चे को चुप करवाने के लिए प्रकृति के

एक समझदार मां रोते हुए बच्चे को चुप करवाने के लिए प्रकृति के करीब लाती है,पंछी – फूल दिखाती है -फोन नहीं !

140 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dheerja Sharma
View all
You may also like:
From dust to diamond.
From dust to diamond.
Manisha Manjari
नैन खोल मेरी हाल देख मैया
नैन खोल मेरी हाल देख मैया
Basant Bhagawan Roy
ग़ज़ल एक प्रणय गीत +रमेशराज
ग़ज़ल एक प्रणय गीत +रमेशराज
कवि रमेशराज
शरद पूर्णिमा पर्व है,
शरद पूर्णिमा पर्व है,
Satish Srijan
सुप्रभात
सुप्रभात
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
अंबेडकर की मूर्ति तोड़े जाने पर
अंबेडकर की मूर्ति तोड़े जाने पर
Shekhar Chandra Mitra
"आदत"
Dr. Kishan tandon kranti
फितरत
फितरत
Dr. Seema Varma
*जिंदगी तब तक सही है, देह में उत्साह है (मुक्तक)*
*जिंदगी तब तक सही है, देह में उत्साह है (मुक्तक)*
Ravi Prakash
दुनिया मेरे हिसाब से, छोटी थी
दुनिया मेरे हिसाब से, छोटी थी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
पहाड़ पर कविता
पहाड़ पर कविता
Brijpal Singh
नारी
नारी
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
देखने का नजरिया
देखने का नजरिया
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
हर मौसम का अपना अलग तजुर्बा है
हर मौसम का अपना अलग तजुर्बा है
कवि दीपक बवेजा
खुदा के वास्ते
खुदा के वास्ते
shabina. Naaz
*होइही सोइ जो राम रची राखा*
*होइही सोइ जो राम रची राखा*
Shashi kala vyas
अपना सपना :
अपना सपना :
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
बुला रही है सीता तुम्हारी, तुमको मेरे रामजी
बुला रही है सीता तुम्हारी, तुमको मेरे रामजी
gurudeenverma198
दम है तो गलत का विरोध करो अंधभक्तो
दम है तो गलत का विरोध करो अंधभक्तो
शेखर सिंह
Good morning 🌅🌄
Good morning 🌅🌄
Sanjay ' शून्य'
तुम बिन आवे ना मोय निंदिया
तुम बिन आवे ना मोय निंदिया
Ram Krishan Rastogi
#यादें_बाक़ी
#यादें_बाक़ी
*Author प्रणय प्रभात*
दीप माटी का
दीप माटी का
Dr. Meenakshi Sharma
मुद्दा
मुद्दा
Paras Mishra
सफलता
सफलता
Paras Nath Jha
मेरे सब्र की इंतहां न ले !
मेरे सब्र की इंतहां न ले !
ओसमणी साहू 'ओश'
"दिल चाहता है"
Pushpraj Anant
सरस्वती वंदना
सरस्वती वंदना
Satya Prakash Sharma
उन कचोटती यादों का क्या
उन कचोटती यादों का क्या
Atul "Krishn"
नागिन
नागिन
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
Loading...