Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 May 2023 · 1 min read

एक पते की बात

एक पते की बात बताऊं, सबहूं कहूं सनमाने
धर्म रहे हृदय स्थाने, जो नर यह पहचाने
सदा पाप से दूर रहे वह, ईश्वर अल्लाह जाने
एक पते की बात बताऊं, नहीं जिहाद मनमानी
कुदरत की इस कायनात पर, हिंसा है बेमानी
एक पते की बात बताऊं, वंदे माने या न माने
खुद को जो न जान सके, वह खुदा को क्या पहचाने
एक पते की बात बताऊं, सिया राम जग जाने
स्वयं में जो न रमा, राम को वो नर कैंसे जाने
एक पते की बात बताऊं, आगे अल्ला जाने
होती नहीं जिहाद है ऐसी, जो ले बेगुनाहों की जानें
एक पते की बात बताऊं, समझो तो समझाऊं
एक है धरती एक गगन है, एक ही सबकी जानें
एक ही मात पिता की बंदे, सब जग हैं संतानें
एक पते की बात बताऊं, है यह लिखा लिखाया
मानव होकर मानवता को, जो नर समझ ना पाया
पशुपत होकर रहा जगत में, जीवन व्यर्थ गवाया
एक पते की बात बताऊं, बंदे जाने या ना जाने
प्रेम जगत का सार है बंधु, बाकी सभी फंसाने

सुरेश कुमार चतुर्वेदी

Language: Hindi
2 Likes · 2 Comments · 362 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from सुरेश कुमार चतुर्वेदी
View all
You may also like:
प्रकृति में एक अदृश्य शक्ति कार्य कर रही है जो है तुम्हारी स
प्रकृति में एक अदृश्य शक्ति कार्य कर रही है जो है तुम्हारी स
Rj Anand Prajapati
राम की आराधना
राम की आराधना
surenderpal vaidya
गति साँसों की धीमी हुई, पर इंतज़ार की आस ना जाती है।
गति साँसों की धीमी हुई, पर इंतज़ार की आस ना जाती है।
Manisha Manjari
😊नीचे ऊंट पहाड़ के😊
😊नीचे ऊंट पहाड़ के😊
*प्रणय प्रभात*
धरती
धरती
manjula chauhan
विश्व कप-2023 फाइनल
विश्व कप-2023 फाइनल
गुमनाम 'बाबा'
ग़ज़ल सगीर
ग़ज़ल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
जर जमीं धन किसी को तुम्हारा मिले।
जर जमीं धन किसी को तुम्हारा मिले।
सत्य कुमार प्रेमी
शब की रातों में जब चाँद पर तारे हो जाते हैं,
शब की रातों में जब चाँद पर तारे हो जाते हैं,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
नारी : एक अतुल्य रचना....!
नारी : एक अतुल्य रचना....!
VEDANTA PATEL
Karma
Karma
R. H. SRIDEVI
जिंदगी जीने का कुछ ऐसा अंदाज रक्खो !!
जिंदगी जीने का कुछ ऐसा अंदाज रक्खो !!
शेखर सिंह
9-अधम वह आदमी की शक्ल में शैतान होता है
9-अधम वह आदमी की शक्ल में शैतान होता है
Ajay Kumar Vimal
चला गया
चला गया
Mahendra Narayan
पावस आने से प्रथम, कर लो सब उपचार।
पावस आने से प्रथम, कर लो सब उपचार।
डॉ.सीमा अग्रवाल
ये जीवन जीने का मूल मंत्र कभी जोड़ना कभी घटाना ,कभी गुणा भाग
ये जीवन जीने का मूल मंत्र कभी जोड़ना कभी घटाना ,कभी गुणा भाग
Shashi kala vyas
अगर कोई लक्ष्य पाना चाहते हो तो
अगर कोई लक्ष्य पाना चाहते हो तो
Sonam Puneet Dubey
आप हो न
आप हो न
Dr fauzia Naseem shad
उत्कृष्टता
उत्कृष्टता
Paras Nath Jha
मन को समझाने
मन को समझाने
sushil sarna
मुहब्बत ने मुहब्बत से सदाक़त सीख ली प्रीतम
मुहब्बत ने मुहब्बत से सदाक़त सीख ली प्रीतम
आर.एस. 'प्रीतम'
3294.*पूर्णिका*
3294.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
हे गणपति श्रेष्ठ शुभंकर
हे गणपति श्रेष्ठ शुभंकर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मुस्कुराओ तो सही
मुस्कुराओ तो सही
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
मेरा न कृष्ण है न मेरा कोई राम है
मेरा न कृष्ण है न मेरा कोई राम है
डॉ.एल. सी. जैदिया 'जैदि'
साथ
साथ
Neeraj Agarwal
हृदय को ऊॅंचाइयों का भान होगा।
हृदय को ऊॅंचाइयों का भान होगा।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
"पायल"
Dr. Kishan tandon kranti
दिनकर/सूर्य
दिनकर/सूर्य
Vedha Singh
Loading...