Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Feb 2023 · 1 min read

एक दिन यह समय भी बदलेगा

एक दिन यह समय भी बदलेगा
पुराने पत्ते झड़ेगे नए पत्ते आएंगे
हर एक कश्ती के किनारे आएंगे
हौसले बीच में ही थमने ना पाएंगे

हवाओं के रुख भी बदल जाएगें
कई चेहरों से नकाब हट जाएंगे
बहुत जल्दी अच्छे दिन आएंगे
लोगों के ताने मंजिलें दिलाएंगे

शबरी की कुटिया में राम आएंगे
जैसे पतझड़ में मानो बसंत लाएंगे
मुरझाऐ हुए पड़े थे जो फूल कभी
वह अब फिर से खिलखिला जाएंगे

एक दिन यह समय भी बदलेगा
मौसम की बहार फिर से आएगी
हर फूल खिलेगा अब दोबारा से
हर कली फिर फिर मुस्कुराएगी

मरुभूमि में होगी अनंत बारिन
पतझड़ में सावन आ जाएगा
किसान के चेहरे पर फिर से
खुशी का आलम छा जाएगा

भवरा फिर अब झूम उठेगा
तितली फिर फिर मडराएगी
खुशी का छा जाएगा माहौल
कोयल भी मधुर गीत गाएगी

मोर भी अपने पंख फहराएंगा
अपना नृत्य अजब दिखाएगा
हंस को देखो सुंदर कितना
दृश्य वह अजब बना जाएगा

सावन जब आ जाएगा
बरसा अजब वो लाएगा
बारिश का आलम आने दे
सरल भी अब भीग जाएगा

कवि दीपक सरल

Language: Hindi
1 Like · 258 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
|नये शिल्प में रमेशराज की तेवरी
|नये शिल्प में रमेशराज की तेवरी
कवि रमेशराज
कह कोई ग़ज़ल
कह कोई ग़ज़ल
Shekhar Chandra Mitra
Destiny
Destiny
Chahat
इसलिए कहता हूं तुम किताब पढ़ो ताकि
इसलिए कहता हूं तुम किताब पढ़ो ताकि
Ranjeet kumar patre
मित्रता चित्र देखकर नहीं
मित्रता चित्र देखकर नहीं
Sonam Puneet Dubey
जीवन उत्साह
जीवन उत्साह
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
युद्ध घोष
युद्ध घोष
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
रामभक्त हनुमान
रामभक्त हनुमान
Seema gupta,Alwar
ग़ज़ल _ थोड़ा सा मुस्कुरा कर 🥰
ग़ज़ल _ थोड़ा सा मुस्कुरा कर 🥰
Neelofar Khan
माफिया
माफिया
Sanjay ' शून्य'
आसान होती तो समझा लेते
आसान होती तो समझा लेते
रुचि शर्मा
न तोड़ दिल ये हमारा सहा न जाएगा
न तोड़ दिल ये हमारा सहा न जाएगा
Dr Archana Gupta
बदलना न चाहने वाले को आप कभी बदल नहीं सकते ठीक उसी तरह जैसे
बदलना न चाहने वाले को आप कभी बदल नहीं सकते ठीक उसी तरह जैसे
पूर्वार्थ
मुहब्बत ने मुहब्बत से सदाक़त सीख ली प्रीतम
मुहब्बत ने मुहब्बत से सदाक़त सीख ली प्रीतम
आर.एस. 'प्रीतम'
हँसते गाते हुए
हँसते गाते हुए
Shweta Soni
"किनारे से"
Dr. Kishan tandon kranti
श्री शूलपाणि
श्री शूलपाणि
Vivek saswat Shukla
अम्बेडकरवादी हाइकु / मुसाफ़िर बैठा
अम्बेडकरवादी हाइकु / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
My Guardian Angel
My Guardian Angel
Manisha Manjari
इतना ही बस रूठिए , मना सके जो कोय ।
इतना ही बस रूठिए , मना सके जो कोय ।
Manju sagar
बिल्ली की तो हुई सगाई
बिल्ली की तो हुई सगाई
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
कहीं भूल मुझसे न हो जो गई है।
कहीं भूल मुझसे न हो जो गई है।
surenderpal vaidya
तू है तसुव्वर में तो ए खुदा !
तू है तसुव्वर में तो ए खुदा !
ओनिका सेतिया 'अनु '
झूठी हमदर्दियां
झूठी हमदर्दियां
Surinder blackpen
माटी कहे पुकार
माटी कहे पुकार
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
न जल लाते हैं ये बादल(मुक्तक)
न जल लाते हैं ये बादल(मुक्तक)
Ravi Prakash
20
20
Ashwini sharma
सुविचार
सुविचार
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
🙅पक्की गारंटी🙅
🙅पक्की गारंटी🙅
*प्रणय प्रभात*
अपने आप से भी नाराज रहने की कोई वजह होती है,
अपने आप से भी नाराज रहने की कोई वजह होती है,
goutam shaw
Loading...