Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Jan 2024 · 1 min read

एक तूही दयावान

निर्मल काया, अदभुत माया, अनुपम तेरा नाम।
एक तूही दयावान, हे जननी, तेरे सिवा ना कोई आन।।

भला बुरा, जो भी हो बेटा होता, तेरा प्राण
माँ तेरी, सेवा से बढ़कर और ना कोई काम
जो करते गुनगान तेरी, होती उनकी कल्याण
ये दुनिया गाये, हरपल तेरी महिमा का गान।
एक तूही दयावान, हे जननी, तेरे सिवा ना कोई आन।।

लगता है हर घड़ी सुहावन, माँ तेरी दरबार
भक्त हजारों आके देख, तेरी शरणों में ठार
सब करते जय जयकार, तू करती है भव से पार
तेरी दया से सभी भिखारी हो जाए धनवान।
एक तूही दयावान, हे जननी, तेरे सिवा ना कोई आन।।

देती है आशीष माँ, जो चरणों में शीश झुकता है
माँ तेरे भजनों सा गहना और ना कोई भाता है
तेरा भजन जो गाता है, वो मनवांछित फल पाता है
है अज्ञानी, बेटा तेरा, दे “बसंत” को ज्ञान।
एक तूही दयावान, हे जननी, तेरे सिवा ना कोई आन।।

✍️ बसंत भगवान राय
(धुन: चांदी जैसा रंग है तेरा)

Language: Hindi
Tag: गीत
1 Like · 123 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Basant Bhagawan Roy
View all
You may also like:
लेकर सांस उधार
लेकर सांस उधार
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
" पहला खत "
Aarti sirsat
23/165.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/165.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मां को नहीं देखा
मां को नहीं देखा
Suryakant Dwivedi
चलना हमारा काम है
चलना हमारा काम है
Mrs PUSHPA SHARMA {पुष्पा शर्मा अपराजिता}
तुमने - दीपक नीलपदम्
तुमने - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
सत्यबोध
सत्यबोध
Bodhisatva kastooriya
दिलों में प्यार भी होता, तेरा मेरा नहीं होता।
दिलों में प्यार भी होता, तेरा मेरा नहीं होता।
सत्य कुमार प्रेमी
चुभे  खार  सोना  गँवारा किया
चुभे खार सोना गँवारा किया
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
"पेरियार ललई सिंह यादव"
Dr. Kishan tandon kranti
मुक़्तज़ा-ए-फ़ितरत
मुक़्तज़ा-ए-फ़ितरत
Shyam Sundar Subramanian
बुद्ध पुर्णिमा
बुद्ध पुर्णिमा
Satish Srijan
माँ तेरा ना होना
माँ तेरा ना होना
shivam kumar mishra
ज़िन्दगी की राह
ज़िन्दगी की राह
Sidhartha Mishra
* फागुन की मस्ती *
* फागुन की मस्ती *
surenderpal vaidya
इस हसीन चेहरे को पर्दे में छुपाके रखा करो ।
इस हसीन चेहरे को पर्दे में छुपाके रखा करो ।
Phool gufran
माना कि दुनिया बहुत बुरी है
माना कि दुनिया बहुत बुरी है
Shekhar Chandra Mitra
हममें आ जायेंगी बंदिशे
हममें आ जायेंगी बंदिशे
Pratibha Pandey
मेरे कान्हा
मेरे कान्हा
umesh mehra
बहुत अहमियत होती है लोगों की
बहुत अहमियत होती है लोगों की
शिव प्रताप लोधी
*....आज का दिन*
*....आज का दिन*
Naushaba Suriya
"मैं" के रंगों में रंगे होते हैं, आत्मा के ये परिधान।
Manisha Manjari
तुम्हीं  से  मेरी   जिंदगानी  रहेगी।
तुम्हीं से मेरी जिंदगानी रहेगी।
Rituraj shivem verma
हम छि मिथिला के बासी
हम छि मिथिला के बासी
Ram Babu Mandal
हिरनगांव की रियासत
हिरनगांव की रियासत
Prashant Tiwari
खाते मोबाइल रहे, हम या हमको दुष्ट (कुंडलिया)
खाते मोबाइल रहे, हम या हमको दुष्ट (कुंडलिया)
Ravi Prakash
नया सवेरा
नया सवेरा
AMRESH KUMAR VERMA
🥀*✍अज्ञानी की*🥀
🥀*✍अज्ञानी की*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
कबीरपंथ से कबीर ही गायब / मुसाफ़िर बैठा
कबीरपंथ से कबीर ही गायब / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
14--- 🌸अस्तित्व का संकट 🌸
14--- 🌸अस्तित्व का संकट 🌸
Mahima shukla
Loading...