Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Oct 2022 · 1 min read

एक गंभीर समस्या भ्रष्टाचारी काव्य

भारत जैसे भव्य सी भुवन में
भ्रष्टाचारी एक गंभीर समस्या
पूर्ण देश में अपनी जाल फैला
हमारे मुल्क को कर रही दुर्बल ।

देश की हालत है इस काबिल
कि एक बार जो बन गया नेता
उसे वित्त की न होती कभी खेता
वह संपूर्ण जिंदगी भी खा सकता ।

भारत के लगभग लगभग
जितने भी जन अधिकारी है
सब के सब होते है उपप्रदानी
इनका तनखा से ना भरता पेट ।

भ्रष्टाचारी को दूर करना
ऐसा लगता जैसा मानो
चलनी में पानी भरने का
हो कार्य, आखिर ऐसा क्यों ? …

क्यों डर रहे आज पुलिस से लोग
जो जनता के रक्षक है कहलाते
अपनी समस्या का समाधान हेतु
क्यों जाने से डरते है इनके पास

क्यों इतनी भ्रष्टाचारी है चारों ओर
हमारी इस‌ चारु सी कलित भव में
क्यों पुलिस लेती रिश्वत लोगों से
एफ०आई०आर० लिखने से पूर्व ।

छोटे से लेकर बड़े अधिकारी तक
क्यों आज इतने भ्रष्ट होते जा रहे
लोग सरकारी स्कूलों से अतिशय
प्राइवेट को क्यों मान रहे है आज

सरकार की कोई योजना का लाभ
क्या गरीबों तक सही से पहुंच रही
इसकी भी उन्हें करनी चाहिए शोध
आधा सीधा तो मध्यवाले ही खा लेते ।

भ्रष्टाचारी दीमक की तरह देश को
खोखला करने का करती है कार्य
भ्रष्टाचारी ! भ्रष्टाचारी ! भ्रष्टाचारी !
क्यों बढ़ रही हमारे ललाम मुल्क में ।

✍️✍️✍️ लेखक:- अमरेश कुमार वर्मा

Language: Hindi
Tag: कविता
108 Views
You may also like:
हैं शामिल
हैं शामिल
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
बहकने दीजिए
बहकने दीजिए
surenderpal vaidya
एक चेहरा मन को भाता है
एक चेहरा मन को भाता है
कवि दीपक बवेजा
है मुहब्बत का उनकी असर आज भी
है मुहब्बत का उनकी असर आज भी
Dr Archana Gupta
अब हम बहुत दूर …
अब हम बहुत दूर …
DrLakshman Jha Parimal
बेवफा
बेवफा
Aditya Raj
***
*** " ये दरारें क्यों.....? " ***
VEDANTA PATEL
जीवन का हर वो पहलु सरल है
जीवन का हर वो पहलु सरल है
'अशांत' शेखर
निःशब्दता हीं, जीवन का सार होता है।
निःशब्दता हीं, जीवन का सार होता है।
Manisha Manjari
तेरा हर एक पल
तेरा हर एक पल
Dr fauzia Naseem shad
जो भी आ जाएंगे निशाने में।
जो भी आ जाएंगे निशाने में।
सत्य कुमार प्रेमी
एक बे सहारा वृद्ध स्त्री की जीवन व्यथा।
एक बे सहारा वृद्ध स्त्री की जीवन व्यथा।
Taj Mohammad
विद्या राजपूत से डॉ. फ़ीरोज़ अहमद की बातचीत
विद्या राजपूत से डॉ. फ़ीरोज़ अहमद की बातचीत
डॉ. एम. फ़ीरोज़ ख़ान
औरत की जगह
औरत की जगह
Shekhar Chandra Mitra
शिक्षा एवं धर्म
शिक्षा एवं धर्म
Abhineet Mittal
अति
अति
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
माँ आई
माँ आई
Kavita Chouhan
बोलो बोलो,हर हर महादेव बोलो
बोलो बोलो,हर हर महादेव बोलो
gurudeenverma198
३५ टुकड़े अरमानों के ..
३५ टुकड़े अरमानों के ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
Gazal
Gazal
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
कान्हा हम बिसरब नहिं...
कान्हा हम बिसरब नहिं...
मनोज कर्ण
💐प्रेम कौतुक-494💐
💐प्रेम कौतुक-494💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
टुलिया........... (कहानी)
टुलिया........... (कहानी)
लालबहादुर चौरसिया 'लाल'
खालीपन
खालीपन
जय लगन कुमार हैप्पी
*चलो देखने को चलते हैं, नेताओं की होली (हास्य गीत)*
*चलो देखने को चलते हैं, नेताओं की होली (हास्य गीत)*
Ravi Prakash
वक़्त ने करवट क्या बदली...!
वक़्त ने करवट क्या बदली...!
Dr. Pratibha Mahi
आज की तारीख़ में
आज की तारीख़ में
*Author प्रणय प्रभात*
बेटियां
बेटियां
Shriyansh Gupta
त्रासदी
त्रासदी
Shyam Sundar Subramanian
🤗🤗क्या खोजते हो दुनिता में  जब सब कुछ तेरे अन्दर है क्यों दे
🤗🤗क्या खोजते हो दुनिता में जब सब कुछ तेरे अन्दर...
Swati
Loading...