Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Oct 2016 · 1 min read

एकता के गीत गायेंं, हो परस्पर प्यार इतना( गीत)पोस्ट २९

एकता के गीत गायें
****************
हम रचाने आ गये संसार फिर स्वप्निल धरा पर
हो परस्पर प्यार इतना एकता के गीत गायें ।।

सत्यता हो मूल्य शाश्वत , हो समय स्वर्णिम सबेरा
दूर हो तिमिरांध जग का ,हो भले कितना घनेरा
हम मधुर संगीत के सँग नित् नवल गायें ऋचाएँ
हो परस्पर प्यार इतना एकता के गीत गायें ।।

भूल कर बातें वििगत की, छोड़ कर सारे फसाने
एक क्या अनगिन धरा पर सूर्य हैं हमको उगाने ।
दूर हो पतझरनुमा संत्रास यह मधुमास लायें ।
हो परस्पर प्यार इतना एकता के गीत गायें ।।
—– जितेंद्रकमलआनंद

Language: Hindi
Tag: गीत
1 Comment · 642 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
एक तरफा प्यार
एक तरफा प्यार
Neeraj Agarwal
बेटी के जीवन की विडंबना
बेटी के जीवन की विडंबना
Rajni kapoor
तुम्हारा मेरा रिश्ता....
तुम्हारा मेरा रिश्ता....
पूर्वार्थ
एक दिन देखना तुम
एक दिन देखना तुम
gurudeenverma198
खामोशियां पढ़ने का हुनर हो
खामोशियां पढ़ने का हुनर हो
Amit Pandey
"पति परमेश्वर "
Dr Meenu Poonia
बात बात में लड़ने लगे हैं _खून गर्म क्यों इतना है ।
बात बात में लड़ने लगे हैं _खून गर्म क्यों इतना है ।
Rajesh vyas
ताक पर रखकर अंतर की व्यथाएँ,
ताक पर रखकर अंतर की व्यथाएँ,
सत्यम प्रकाश 'ऋतुपर्ण'
कोई कितना
कोई कितना
Dr fauzia Naseem shad
Advice
Advice
Shyam Sundar Subramanian
इम्तिहान
इम्तिहान
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
💐प्रेम कौतुक-376💐
💐प्रेम कौतुक-376💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
इशारों इशारों में मेरा दिल चुरा लेते हो
इशारों इशारों में मेरा दिल चुरा लेते हो
Ram Krishan Rastogi
ज़ुदा हैं रास्ते अपने,
ज़ुदा हैं रास्ते अपने,
Rashmi Sanjay
स्त्रियों में ईश्वर, स्त्रियों का ताड़न
स्त्रियों में ईश्वर, स्त्रियों का ताड़न
Dr MusafiR BaithA
मुक्तक
मुक्तक
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
सर्दी में जलती हुई आग लगती हो
सर्दी में जलती हुई आग लगती हो
Jitendra Chhonkar
कर्म ही है श्रेष्ठ
कर्म ही है श्रेष्ठ
Sandeep Pande
*** कृष्ण रंग ही : प्रेम रंग....!!! ***
*** कृष्ण रंग ही : प्रेम रंग....!!! ***
VEDANTA PATEL
जिंदगी सितार हो गयी
जिंदगी सितार हो गयी
Mamta Rani
*रखिए जीवन में सदा, उजला मन का भाव (कुंडलिया)*
*रखिए जीवन में सदा, उजला मन का भाव (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
Writing Challenge- स्वास्थ्य (Health)
Writing Challenge- स्वास्थ्य (Health)
Sahityapedia
जब कोई आदमी कमजोर पड़ जाता है
जब कोई आदमी कमजोर पड़ जाता है
Paras Nath Jha
2314.पूर्णिका
2314.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
मेनका की मी टू
मेनका की मी टू
Dr. Pradeep Kumar Sharma
हर चेहरा है खूबसूरत
हर चेहरा है खूबसूरत
Surinder blackpen
!! यह तो सर गद्दारी है !!
!! यह तो सर गद्दारी है !!
Chunnu Lal Gupta
मुसाफिर हो तुम भी
मुसाफिर हो तुम भी
Satish Srijan
कुण्डलिया-मणिपुर
कुण्डलिया-मणिपुर
दुष्यन्त 'बाबा'
*देश का दर्द (मणिपुर से आहत)*
*देश का दर्द (मणिपुर से आहत)*
Dushyant Kumar
Loading...