Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Oct 2022 · 1 min read

उसको भेजा हुआ खत

उसको भेजा हुआ खत अब
उसके पते पर नहीं जाता !

उसका कोई भी संदेशा अब
मेरे तक क्यों नहीं आता !!

✍कवि दीपक सरल

Language: Hindi
1 Like · 164 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बस जाओ मेरे मन में
बस जाओ मेरे मन में
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
नजर से मिली नजर....
नजर से मिली नजर....
Harminder Kaur
प्रश्रयस्थल
प्रश्रयस्थल
Bodhisatva kastooriya
*माता हीराबेन (कुंडलिया)*
*माता हीराबेन (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
😊 #हास्य_गीत-
😊 #हास्य_गीत-
*Author प्रणय प्रभात*
लोककवि रामचरन गुप्त मनस्वी साहित्यकार +डॉ. अभिनेष शर्मा
लोककवि रामचरन गुप्त मनस्वी साहित्यकार +डॉ. अभिनेष शर्मा
कवि रमेशराज
भाथी के विलुप्ति के कगार पर होने के बहाने / MUSAFIR BAITHA
भाथी के विलुप्ति के कगार पर होने के बहाने / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
घबरा के छोड़ दें
घबरा के छोड़ दें
Dr fauzia Naseem shad
राम मंदिर
राम मंदिर
Sandhya Chaturvedi(काव्यसंध्या)
शब्द सारे ही लौट आए हैं
शब्द सारे ही लौट आए हैं
Ranjana Verma
बहुत कुछ जल रहा है अंदर मेरे
बहुत कुछ जल रहा है अंदर मेरे
डॉ. दीपक मेवाती
जनता के आगे बीन बजाना ठीक नहीं है
जनता के आगे बीन बजाना ठीक नहीं है
कवि दीपक बवेजा
मासूमियत की हत्या से आहत
मासूमियत की हत्या से आहत
Sanjay ' शून्य'
हर चढ़ते सूरज की शाम है,
हर चढ़ते सूरज की शाम है,
Lakhan Yadav
"भुला ना सके"
Dr. Kishan tandon kranti
शराब हो या इश्क़ हो बहकाना काम है
शराब हो या इश्क़ हो बहकाना काम है
सिद्धार्थ गोरखपुरी
❤️🌺मेरी मां🌺❤️
❤️🌺मेरी मां🌺❤️
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
हर फूल गुलाब नहीं हो सकता,
हर फूल गुलाब नहीं हो सकता,
Anil Mishra Prahari
प्रकृति
प्रकृति
लक्ष्मी सिंह
जिंदगी बस एक सोच है।
जिंदगी बस एक सोच है।
Neeraj Agarwal
चुनावी जुमला
चुनावी जुमला
Shekhar Chandra Mitra
संस्कार और अहंकार में बस इतना फर्क है कि एक झुक जाता है दूसर
संस्कार और अहंकार में बस इतना फर्क है कि एक झुक जाता है दूसर
Rj Anand Prajapati
புறப்பாடு
புறப்பாடு
Shyam Sundar Subramanian
अनेकता में एकता 🇮🇳🇮🇳
अनेकता में एकता 🇮🇳🇮🇳
Madhuri Markandy
औरत
औरत
नूरफातिमा खातून नूरी
वो मेरे बिन बताए सब सुन लेती
वो मेरे बिन बताए सब सुन लेती
Keshav kishor Kumar
सियासत में आकर।
सियासत में आकर।
Taj Mohammad
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
2686.*पूर्णिका*
2686.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
लहसुन
लहसुन
आकाश महेशपुरी
Loading...