Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Jun 2023 · 1 min read

उनको घरों में भी सीलन आती है,

उनको घरों में भी सीलन आती है,
जिनके दिल पसीजा नहीं करते ।।

2 Likes · 380 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
वफा माँगी थी
वफा माँगी थी
Swami Ganganiya
A last warning
A last warning
Bindesh kumar jha
डीजे
डीजे
Dr. Pradeep Kumar Sharma
* जगेगा नहीं *
* जगेगा नहीं *
surenderpal vaidya
चिट्ठी   तेरे   नाम   की, पढ लेना करतार।
चिट्ठी तेरे नाम की, पढ लेना करतार।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
यदि आपका स्वास्थ्य
यदि आपका स्वास्थ्य
Paras Nath Jha
About [ Ranjeet Kumar Shukla ]
About [ Ranjeet Kumar Shukla ]
Ranjeet Kumar Shukla
3147.*पूर्णिका*
3147.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
चाहत
चाहत
Bodhisatva kastooriya
सफर अंजान राही नादान
सफर अंजान राही नादान
VINOD CHAUHAN
*भीड़ से बचकर रहो, एकांत के वासी बनो ( मुक्तक )*
*भीड़ से बचकर रहो, एकांत के वासी बनो ( मुक्तक )*
Ravi Prakash
कर पुस्तक से मित्रता,
कर पुस्तक से मित्रता,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
होली, नौराते, गणगौर,
होली, नौराते, गणगौर,
*प्रणय प्रभात*
आंगन की किलकारी बेटी,
आंगन की किलकारी बेटी,
Vindhya Prakash Mishra
यादें....!!!!!
यादें....!!!!!
Jyoti Khari
पहले उसकी आदत लगाते हो,
पहले उसकी आदत लगाते हो,
Raazzz Kumar (Reyansh)
"रुख़सत"
Dr. Kishan tandon kranti
जिसे तुम ढूंढती हो
जिसे तुम ढूंढती हो
Basant Bhagawan Roy
हौसला
हौसला
डॉ. शिव लहरी
आत्मबल
आत्मबल
Punam Pande
कौन किसी को बेवजह ,
कौन किसी को बेवजह ,
sushil sarna
NSUI कोंडागांव जिला अध्यक्ष शुभम दुष्यंत राणा shubham dushyant rana
NSUI कोंडागांव जिला अध्यक्ष शुभम दुष्यंत राणा shubham dushyant rana
Bramhastra sahityapedia
अपनी क़िस्मत को हम
अपनी क़िस्मत को हम
Dr fauzia Naseem shad
हिन्दी दोहा बिषय- न्याय
हिन्दी दोहा बिषय- न्याय
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
जाने क्यों तुमसे मिलकर भी
जाने क्यों तुमसे मिलकर भी
Sunil Suman
18. कन्नौज
18. कन्नौज
Rajeev Dutta
रिश्तो को कायम रखना चाहते हो
रिश्तो को कायम रखना चाहते हो
Harminder Kaur
नज़्म/कविता - जब अहसासों में तू बसी है
नज़्म/कविता - जब अहसासों में तू बसी है
अनिल कुमार
जिन्दा रहे यह प्यार- सौहार्द, अपने हिंदुस्तान में
जिन्दा रहे यह प्यार- सौहार्द, अपने हिंदुस्तान में
gurudeenverma198
कृति : माँ तेरी बातें सुन....!
कृति : माँ तेरी बातें सुन....!
VEDANTA PATEL
Loading...