Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Jun 2023 · 1 min read

उनके ही नाम

करते थे कितने ही जाम तमाम हम उनके ही नाम से!
करते थे यारौ से बातै हजारौ लाखो,उनके ही नाम से!!
गली-मौहल्ले मे होते थे बस हल्ले, उनके ही नाम से!
चाय-पान की दूकान पर चर्चे थे,बसउनके ही नाम के!!
पढाई-लिखाई भी होती थी शुरू.बस उनके ही नाम से!
नही देते थे तवज्जो ,मतलब नही था किसी काम से!!
मौज-मस्ती उडा,यारो से मिलना बिना किसी काम से!
बस उनके स्कूल की छुट्टी पर,मिलते थे एहतराम से!!
घर से स्कूल औ स्कूल से घर पँहुचाना बिना काम से!
जिन्दगी की हर खुशी पाबस्त थी,बस उनके ही नाम से!!
घरवालो ने तो हमै अहमक- निकम्मा ठहरा दिया था!
पर बडी संजीदगी से मतलब रखे,बस उनके ही नाम से!!
कभी बातो का कोई सिलसिला शुरू भी नही हुआ था!
इक सुबहो खबर शादी की मिली,बस गए हम काम से!!
बडी मेहनत और मशक्कत से,सजाई अर्थी मुहब्बत की!
चल पडे अगले दिन दूजी गली,लग गए हम फिर काम से!!

मौलिक रचना सर्वाधिकार सुरक्षित
बोधिसत्व कस्तूरिया अधिवक्ता कवि पत्रकार 202 नीरव निकुंज Ph2 सिकंदरा आगरा -282007
मोबाइल नंबर 9412443093

Language: Hindi
1 Like · 220 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Bodhisatva kastooriya
View all
You may also like:
मतिभ्रष्ट
मतिभ्रष्ट
Shyam Sundar Subramanian
उलझ नहीं पाते
उलझ नहीं पाते
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
बुद्ध पूर्णिमा शुभकामनाएं - बुद्ध के अनमोल विचार
बुद्ध पूर्णिमा शुभकामनाएं - बुद्ध के अनमोल विचार
Raju Gajbhiye
International plastic bag free day
International plastic bag free day
Tushar Jagawat
"सिलसिला"
Dr. Kishan tandon kranti
अलगाव
अलगाव
अखिलेश 'अखिल'
तुलना से इंकार करना
तुलना से इंकार करना
Dr fauzia Naseem shad
तब जानोगे
तब जानोगे
विजय कुमार नामदेव
तुममें और मुझमें बस एक समानता है,
तुममें और मुझमें बस एक समानता है,
सिद्धार्थ गोरखपुरी
"डोली बेटी की"
Ekta chitrangini
गजल
गजल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
जो न कभी करते हैं क्रंदन, भले भोगते भोग
जो न कभी करते हैं क्रंदन, भले भोगते भोग
महेश चन्द्र त्रिपाठी
पत्नी व प्रेमिका में क्या फर्क है बताना।
पत्नी व प्रेमिका में क्या फर्क है बताना।
सत्य कुमार प्रेमी
* सत्य एक है *
* सत्य एक है *
surenderpal vaidya
We just dream to  be rich
We just dream to be rich
Bhupendra Rawat
वह एक वस्तु,
वह एक वस्तु,
Shweta Soni
कसास दो उस दर्द का......
कसास दो उस दर्द का......
shabina. Naaz
लक्ष्मी-पूजन का अर्थ है- विकारों से मुक्ति
लक्ष्मी-पूजन का अर्थ है- विकारों से मुक्ति
कवि रमेशराज
*पुस्तक समीक्षा*
*पुस्तक समीक्षा*
Ravi Prakash
हर विषम से विषम परिस्थिति में भी शांत रहना सबसे अच्छा हथियार
हर विषम से विषम परिस्थिति में भी शांत रहना सबसे अच्छा हथियार
Ankita Patel
- अब नहीं!!
- अब नहीं!!
Seema gupta,Alwar
सोच
सोच
Dinesh Kumar Gangwar
ॐ
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
सम्बंध बराबर या फिर
सम्बंध बराबर या फिर
*प्रणय प्रभात*
मनभावन बसंत
मनभावन बसंत
Pushpa Tiwari
वासुदेव
वासुदेव
Bodhisatva kastooriya
कोई इंसान अगर चेहरे से खूबसूरत है
कोई इंसान अगर चेहरे से खूबसूरत है
ruby kumari
16. आग
16. आग
Rajeev Dutta
नज़्म
नज़्म
Neelofar Khan
3099.*पूर्णिका*
3099.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
Loading...