Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Mar 2023 · 1 min read

उत्कृष्ट सृजना ईश्वर की, नारी सृष्टि में आई

उत्कृष्ट सृजना ईश्वर की, नारी सृष्टि में आई
कष्टों में मुस्कान विखेरी, दुनिया नई बसाई
घर परिवार समाज बनाया,नई रोशनी लाई
त्याग तपस्या वलिदानों की, महिमा कही न जाई
प्रेम और करुणा की मूरत, उपमा गढ़ी न जाई
सृजन और पालन पोषण, देवों ने स्तुति गाई
मानवता की ईकाई है नारी, प्रेम की ज्योति जलाई
सर्वस्व समर्पित कर जग को, बराबरी न पाई
धन्य धन्य मां बहन बेटियां,नमन कोटि सिरनाई
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर सभी मां बहन बेटियों को सादर नमन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी

1 Like · 492 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from सुरेश कुमार चतुर्वेदी
View all
You may also like:
माटी
माटी
AMRESH KUMAR VERMA
जब कभी तुम्हारा बेटा ज़बा हों, तो उसे बताना ज़रूर
जब कभी तुम्हारा बेटा ज़बा हों, तो उसे बताना ज़रूर
The_dk_poetry
#शर्माजीकेशब्द
#शर्माजीकेशब्द
pravin sharma
*भोग कर सब स्वर्ग-सुख, आना धरा पर फिर पड़ा (गीत)*
*भोग कर सब स्वर्ग-सुख, आना धरा पर फिर पड़ा (गीत)*
Ravi Prakash
विजय हजारे
विजय हजारे
Dr. Pradeep Kumar Sharma
दोहा
दोहा
दुष्यन्त 'बाबा'
कल सबको पता चल जाएगा
कल सबको पता चल जाएगा
MSW Sunil SainiCENA
23/136.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/136.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
अजनबी सा लगता है मुझे अब हर एक शहर
अजनबी सा लगता है मुझे अब हर एक शहर
'अशांत' शेखर
"माँ की ख्वाहिश"
Dr. Kishan tandon kranti
परेशानियों से न घबराना
परेशानियों से न घबराना
Vandna Thakur
दास्ताने-कुर्ता पैजामा [ व्यंग्य ]
दास्ताने-कुर्ता पैजामा [ व्यंग्य ]
कवि रमेशराज
लोग जीते जी भी तो
लोग जीते जी भी तो
Dr fauzia Naseem shad
सुनाऊँ प्यार की सरग़म सुनो तो चैन आ जाए
सुनाऊँ प्यार की सरग़म सुनो तो चैन आ जाए
आर.एस. 'प्रीतम'
R J Meditation Centre, Darbhanga
R J Meditation Centre, Darbhanga
Ravikesh Jha
केवल
केवल
Shweta Soni
मौसम आया फाग का,
मौसम आया फाग का,
sushil sarna
गए थे दिल हल्का करने,
गए थे दिल हल्का करने,
ओसमणी साहू 'ओश'
रामचरितमानस
रामचरितमानस
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
*
*"देश की आत्मा है हिंदी"*
Shashi kala vyas
◆ कीजिए अमल आज से।
◆ कीजिए अमल आज से।
*Author प्रणय प्रभात*
माँ वाणी की वन्दना
माँ वाणी की वन्दना
Prakash Chandra
संघर्ष........एक जूनून
संघर्ष........एक जूनून
Neeraj Agarwal
💐प्रेम कौतुक-446💐
💐प्रेम कौतुक-446💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कबीर का पैगाम
कबीर का पैगाम
Shekhar Chandra Mitra
शाकाहारी बने
शाकाहारी बने
Sanjay ' शून्य'
गुब्बारे की तरह नहीं, फूल की तरह फूलना।
गुब्बारे की तरह नहीं, फूल की तरह फूलना।
निशांत 'शीलराज'
काले समय का सवेरा ।
काले समय का सवेरा ।
Nishant prakhar
दो हज़ार का नोट
दो हज़ार का नोट
Dr Archana Gupta
इक इक करके सारे पर कुतर डाले
इक इक करके सारे पर कुतर डाले
ruby kumari
Loading...