Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Aug 2016 · 1 min read

उड़ान भरने दो

इस मंच से जुड़े सभी काबिल रचनाकारों के नाम-

****उड़ान भरने दो****

अपनी आगोश में ये आसमान भरने दो,
ये नये परिन्दे हैं,इन्हें उड़ान भरने दो l

ये जिन्दगी जीने का हुनर सीख जायेंगे,
ज़रा सब्र रखो,इन्हें ख्वाबों में जान भरने दो l

इनका हर हर्फ क़यामत तलक आबाद रहेगा,
शर्त है कि इनके मुंह में इनकी ज़ुबान भरने दो l

अभी तो चंद गज़ का फासला ही तय हुआ है,
अपने कदमों में इन्हें सारा जहान भरने दो l

मैं थक गया तो तेरे ही पहलू में गिरूंगा,
अभी पुरजोश हूं थोड़ी थकान भरने दो l

मैं छोड़ दूंगा शायरी,गज़लों से जूझना,
बस जो चोट है उसका निशान भरने दो ll

जुबान=भाषा/आवाज

All rights reserved.

-Er Anand Sagar Pandey

402 Views
You may also like:
भारत का संविधान
rkchaudhary2012
जिंदगी
लक्ष्मी सिंह
हे शिव ! सृष्टि भरो शिवता से
Saraswati Bajpai
आपकी सोच जीवन बना भी सकती है बिगाढ़ भी सकती...
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
*"वो दिन जो हम साथ गुजारे थे"*
Shashi kala vyas
Apology
Mahesh Ojha
आज़ादी का परचम
Rekha Drolia
सलाम
Shriyansh Gupta
चांद
Annu Gurjar
आस्था
Shyam Sundar Subramanian
कोई मंझधार में पड़ा हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
दीप संग दीवाली आई
डॉ. शिव लहरी
कलंकित मानवता
Shekhar Chandra Mitra
" सब्र बचपन का"
Dr Meenu Poonia
धार छंद
Pakhi Jain
💐योगं विना मुक्ति: नः💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
प्राकृतिक उपचार
Vikas Sharma'Shivaaya'
माँ की वंदना
Buddha Prakash
Mohd Talib
Mohd Talib
तिलका छंद "युद्ध"
बासुदेव अग्रवाल 'नमन'
वक्त सबको देता है मौका
Anamika Singh
अंतरराष्ट्रीय मित्रता पर दोहे
Ram Krishan Rastogi
असतो मा सद्गमय
Kanchan Khanna
✍️Be Positive...!✍️
'अशांत' शेखर
अंतिमदर्शन
विनोद सिन्हा "सुदामा"
*फ्रेंचाइजी मिठाई की दुकान की ली जाए या स्कूल की...
Ravi Prakash
कौन फिर अपनी मौत मरता है
Dr fauzia Naseem shad
जा जाकर पूंछ ले।
Taj Mohammad
शहीद-ए-आजम भगतसिंह
Dalveer Singh
भाईजान की बात
AJAY PRASAD
Loading...