Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Nov 2022 · 1 min read

उजालों के घर

ऐसा क्यों होता है जब
अपने रूठ जाते हैं
आँखें रोती हैं और
दिल टूट जाते हैं।

इतराते हैं शूल यहाँ
फूल टूट जाते हैं
अपरिमित प्रेम के अग्र
स्वार्थ जीत जाते हैं

घोर अमावस चारों ओर
उजालों के घर पहरे
शकुनि की बिसातों से
छलनी पड़े सब चेहरे।

गांडीव रख दे अर्जुन
मूंद लें सब नेत्र वीर
कहो, कौन्तेय! देख सब
सूखे क्यों हैं तेरे नीर।

ऐसा क्यों होता है जब
प्रश्न ही यक्ष हो जायें
कह न सकें हम कुछ भी
उत्तर प्रश्न ही बन जायें।।

सूर्यकांत

Language: Hindi
2 Likes · 244 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
माँ शारदे-लीला
माँ शारदे-लीला
Kanchan Khanna
#लघु_कविता
#लघु_कविता
*Author प्रणय प्रभात*
सुनो सुनाऊॅ॑ अनसुनी कहानी
सुनो सुनाऊॅ॑ अनसुनी कहानी
VINOD CHAUHAN
💐प्रेम कौतुक-521💐
💐प्रेम कौतुक-521💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जीवन दर्शन
जीवन दर्शन
Prakash Chandra
कुछ बहुएँ ससुराल में
कुछ बहुएँ ससुराल में
Artist Sudhir Singh (सुधीरा)
2602.पूर्णिका
2602.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
ॐ
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
शिक्षा और संस्कार जीवंत जीवन के
शिक्षा और संस्कार जीवंत जीवन के
Neelam Sharma
मुख अटल मधुरता, श्रेष्ठ सृजनता, मुदित मधुर मुस्कान।
मुख अटल मधुरता, श्रेष्ठ सृजनता, मुदित मधुर मुस्कान।
रेखा कापसे
धन की खाई कमाई से भर जाएगी। वैचारिक कमी तो शिक्षा भी नहीं भर
धन की खाई कमाई से भर जाएगी। वैचारिक कमी तो शिक्षा भी नहीं भर
Sanjay ' शून्य'
दया के सागरः लोककवि रामचरन गुप्त +रमेशराज
दया के सागरः लोककवि रामचरन गुप्त +रमेशराज
कवि रमेशराज
"कवि"
Dr. Kishan tandon kranti
The Magical Darkness
The Magical Darkness
Manisha Manjari
तू बदल गईलू
तू बदल गईलू
Shekhar Chandra Mitra
रिश्ते
रिश्ते
विजय कुमार अग्रवाल
#कहमुकरी
#कहमुकरी
Suryakant Dwivedi
नहीं जा सकता....
नहीं जा सकता....
Srishty Bansal
ज़ब्त की जिसमें
ज़ब्त की जिसमें
Dr fauzia Naseem shad
*चुनावी कुंडलिया*
*चुनावी कुंडलिया*
Ravi Prakash
हमें लगा  कि वो, गए-गुजरे निकले
हमें लगा कि वो, गए-गुजरे निकले
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
माँ तुम सचमुच माँ सी हो
माँ तुम सचमुच माँ सी हो
Manju Singh
"इस्राइल -गाज़ा युध्य
DrLakshman Jha Parimal
आसमान में बादल छाए
आसमान में बादल छाए
Neeraj Agarwal
जो संस्कार अपने क़ानून तोड़ देते है,
जो संस्कार अपने क़ानून तोड़ देते है,
शेखर सिंह
माँ वीणा वरदायिनी, बनकर चंचल भोर ।
माँ वीणा वरदायिनी, बनकर चंचल भोर ।
जगदीश शर्मा सहज
इक परी हो तुम बड़ी प्यारी हो
इक परी हो तुम बड़ी प्यारी हो
Piyush Prashant
""बहुत दिनों से दूर थे तुमसे _
Rajesh vyas
// श्री राम मंत्र //
// श्री राम मंत्र //
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सुकून ए दिल का वह मंज़र नहीं होने देते। जिसकी ख्वाहिश है, मयस्सर नहीं होने देते।।
सुकून ए दिल का वह मंज़र नहीं होने देते। जिसकी ख्वाहिश है, मयस्सर नहीं होने देते।।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
Loading...