Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Mar 2024 · 1 min read

इस दुनिया की सारी चीज भौतिक जीवन में केवल रुपए से जुड़ी ( कन

इस दुनिया की सारी चीज भौतिक जीवन में केवल रुपए से जुड़ी ( कनेक्ट ) हुई है चाहे रिश्ते की बात हो या फिर मोबाइल में रिचार्ज, पेट में भोजन या फिर नौकरी सबका बस एक ही विषयवस्तु से संपर्क और संबंध है वह है रुपया बिना इसके भौतिक जीवन में कोई भी संपर्क और संबंध नहीं है।
जबकि आध्यात्मिक जीवन इस विषयवस्तु से बिल्कुल परे और जीवन जीने का सही तरीका है।

RJ Anand Prajapati

52 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"कोई तो है"
Dr. Kishan tandon kranti
हौसला
हौसला
Shyam Sundar Subramanian
सर्दी
सर्दी
Dhriti Mishra
" करवा चौथ वाली मेहंदी "
Dr Meenu Poonia
मित्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
मित्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Dr Archana Gupta
9--🌸छोड़ आये वे गलियां 🌸
9--🌸छोड़ आये वे गलियां 🌸
Mahima shukla
My Guardian Angel!
My Guardian Angel!
R. H. SRIDEVI
कैसे कहें घनघोर तम है
कैसे कहें घनघोर तम है
Suryakant Dwivedi
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
DR ARUN KUMAR SHASTRI
DR ARUN KUMAR SHASTRI
DR ARUN KUMAR SHASTRI
*बालरूप श्रीराम (कुंडलिया)*
*बालरूप श्रीराम (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
दिनकर/सूर्य
दिनकर/सूर्य
Vedha Singh
अस्थिर मन
अस्थिर मन
Dr fauzia Naseem shad
फूल चुन रही है
फूल चुन रही है
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
झूठा प्यार।
झूठा प्यार।
Sonit Parjapati
हाय री गरीबी कैसी मेरा घर  टूटा है
हाय री गरीबी कैसी मेरा घर टूटा है
कृष्णकांत गुर्जर
आँखों की दुनिया
आँखों की दुनिया
Sidhartha Mishra
if you love me you will get love for sure.
if you love me you will get love for sure.
पूर्वार्थ
3209.*पूर्णिका*
3209.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मन के सवालों का जवाब नही
मन के सवालों का जवाब नही
भरत कुमार सोलंकी
*हम पर अत्याचार क्यों?*
*हम पर अत्याचार क्यों?*
Dushyant Kumar
कुछ कहती है, सुन जरा....!
कुछ कहती है, सुन जरा....!
VEDANTA PATEL
कौन पंखे से बाँध देता है
कौन पंखे से बाँध देता है
Aadarsh Dubey
बरसात हुई
बरसात हुई
Surya Barman
*अज्ञानी की कलम से हमारे बड़े भाई जी प्रश्नोत्तर शायद पसंद आ
*अज्ञानी की कलम से हमारे बड़े भाई जी प्रश्नोत्तर शायद पसंद आ
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
तूझे क़ैद कर रखूं मेरा ऐसा चाहत नहीं है
तूझे क़ैद कर रखूं मेरा ऐसा चाहत नहीं है
Keshav kishor Kumar
तुम्हारा इक ख्याल ही काफ़ी है
तुम्हारा इक ख्याल ही काफ़ी है
Aarti sirsat
"Strength is not only measured by the weight you can lift, b
Manisha Manjari
राख का ढेर।
राख का ढेर।
Taj Mohammad
किसी मूर्ख को
किसी मूर्ख को
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...