Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 May 2022 · 1 min read

इश्क में तन्हाईयां बहुत है।

इश्क में बेचैनियां बेताबियां बहुत हैं।
तुम भी करके देखो इसमें नादानियां बहुत हैं।।

यार है तो यूं खुदा भी पास लगता है।
गम ए इश्क में अशिको के विरानियां बहुत है।।

मोहब्बत हो तो हर शाम महफिल है।
बिना दिले यार के इश्क में तन्हाइयां बहुत है।।

ताज मोहम्मद
लखनऊ

312 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
जितना रोज ऊपर वाले भगवान को मनाते हो ना उतना नीचे वाले इंसान
जितना रोज ऊपर वाले भगवान को मनाते हो ना उतना नीचे वाले इंसान
Ranjeet kumar patre
" पहला खत "
Aarti sirsat
ज़िंदगी मौत,पर
ज़िंदगी मौत,पर
Dr fauzia Naseem shad
कौन कहता ये यहां नहीं है ?🙏
कौन कहता ये यहां नहीं है ?🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
चाँदनी
चाँदनी
नन्दलाल सुथार "राही"
सारे दुख दर्द होजाते है खाली,
सारे दुख दर्द होजाते है खाली,
Kanchan Alok Malu
RKASHA BANDHAN
RKASHA BANDHAN
डी. के. निवातिया
जो गलत उसको गलत कहना पड़ेगा ।
जो गलत उसको गलत कहना पड़ेगा ।
Arvind trivedi
आम्बेडकर ने पहली बार
आम्बेडकर ने पहली बार
Dr MusafiR BaithA
सत्य की खोज
सत्य की खोज
Neeraj Agarwal
The Moon!
The Moon!
Buddha Prakash
सीख
सीख
Dr.Pratibha Prakash
गजब है उनकी सादगी
गजब है उनकी सादगी
sushil sarna
रामलला ! अभिनंदन है
रामलला ! अभिनंदन है
Ghanshyam Poddar
गम के बगैर
गम के बगैर
Swami Ganganiya
भुलाना ग़लतियाँ सबकी सबक पर याद रख लेना
भुलाना ग़लतियाँ सबकी सबक पर याद रख लेना
आर.एस. 'प्रीतम'
हमारी हार के किस्सों के हिस्से हो गए हैं
हमारी हार के किस्सों के हिस्से हो गए हैं
सिद्धार्थ गोरखपुरी
बिन मांगे ही खुदा ने भरपूर दिया है
बिन मांगे ही खुदा ने भरपूर दिया है
हरवंश हृदय
जनगणना मे मैथिली / Maithili in Population Census / जय मैथिली
जनगणना मे मैथिली / Maithili in Population Census / जय मैथिली
Binit Thakur (विनीत ठाकुर)
औरतें
औरतें
Neelam Sharma
💐अज्ञात के प्रति-92💐
💐अज्ञात के प्रति-92💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बारिश की संध्या
बारिश की संध्या
महेश चन्द्र त्रिपाठी
#गद्य_छाप_पद्य
#गद्य_छाप_पद्य
*Author प्रणय प्रभात*
*मायावी मारा गया, रावण प्रभु के हाथ (कुछ दोहे)*
*मायावी मारा गया, रावण प्रभु के हाथ (कुछ दोहे)*
Ravi Prakash
नशा
नशा
Ram Krishan Rastogi
"कारोबार"
Dr. Kishan tandon kranti
2960.*पूर्णिका*
2960.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
दूसरों के अनुभव से लाभ उठाना भी एक अनुभव है। इसमें सत्साहित्
दूसरों के अनुभव से लाभ उठाना भी एक अनुभव है। इसमें सत्साहित्
Dr. Pradeep Kumar Sharma
इस उरुज़ का अपना भी एक सवाल है ।
इस उरुज़ का अपना भी एक सवाल है ।
Phool gufran
ये पैसा भी गजब है,
ये पैसा भी गजब है,
Umender kumar
Loading...