Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Feb 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-198💐

इश्क़ का सौदा करिए सबेरे, मेरी मानिंद,
शाम को कह ही चुके हो ‘एतिबार नहीं’।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
52 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
मन हमेशा इसी बात से परेशान रहा,
मन हमेशा इसी बात से परेशान रहा,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
मेरा यार
मेरा यार
rkchaudhary2012
अपनों के खो जाने के बाद....
अपनों के खो जाने के बाद....
Jyoti Khari
उफ़,
उफ़,
Vishal babu (vishu)
चातक तो कहता रहा, बस अम्बर से आस।
चातक तो कहता रहा, बस अम्बर से आस।
सूर्यकांत द्विवेदी
कभी किसी को इतनी अहमियत ना दो।
कभी किसी को इतनी अहमियत ना दो।
Annu Gurjar
💐Prodigy Love-21💐
💐Prodigy Love-21💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*वशिष्ठ (कुंडलिया)*
*वशिष्ठ (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
वो इश्क जो कभी किसी ने न किया होगा
वो इश्क जो कभी किसी ने न किया होगा
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
चलो कुछ दूर तलक चलते हैं
चलो कुछ दूर तलक चलते हैं
Bodhisatva kastooriya
कलयुगी धृतराष्ट्र
कलयुगी धृतराष्ट्र
डॉ प्रवीण ठाकुर
माँ
माँ
ओंकार मिश्र
शहरों से निकल के देखो एहसास हमें फिर होगा !ताजगी सुंदर हवा क
शहरों से निकल के देखो एहसास हमें फिर होगा !ताजगी सुंदर हवा क
DrLakshman Jha Parimal
उत्साह एक प्रेरक है
उत्साह एक प्रेरक है
Buddha Prakash
गल्प इन किश एण्ड मिश
गल्प इन किश एण्ड मिश
प्रेमदास वसु सुरेखा
“गुरुर मत करो”
“गुरुर मत करो”
Virendra kumar
मां सिद्धिदात्री
मां सिद्धिदात्री
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कि मुझे सबसे बहुत दूर ले जाएगा,
कि मुझे सबसे बहुत दूर ले जाएगा,
Deepesh सहल
🌹मंजिल की राह दिखा देते 🌹
🌹मंजिल की राह दिखा देते 🌹
Dr.Khedu Bharti
■ विचार
■ विचार
*Author प्रणय प्रभात*
पिता की आंखें
पिता की आंखें
अभिषेक पाण्डेय ‘अभि ’
चांद का झूला
चांद का झूला
Surinder blackpen
फूलों की तरह मुस्कराते रहिए जनाब
फूलों की तरह मुस्कराते रहिए जनाब
shabina. Naaz
बुराइयां हैं बहुत आदमी के साथ
बुराइयां हैं बहुत आदमी के साथ
Shivkumar Bilagrami
रिश्तों को साधने में बहुत टूटते रहे
रिश्तों को साधने में बहुत टूटते रहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
एक दिन
एक दिन
Ranjana Verma
सच की ताक़त
सच की ताक़त
Shekhar Chandra Mitra
रिश्ते वही अनमोल
रिश्ते वही अनमोल
Dr fauzia Naseem shad
‘‘शिक्षा में क्रान्ति’’
‘‘शिक्षा में क्रान्ति’’
Mr. Rajesh Lathwal Chirana
पत्नी रुष्ट है
पत्नी रुष्ट है
Satish Srijan
Loading...