Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Apr 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-530💐

इन पयामों के मायने बदलो या फिर सुनो,
दिल की दहलीज़ पर खड़े हो तो मेरी सुनो,
कोई रंग नहीं चढ़ेगा,मेरा बजूद बहुत रंगीन है,
उन्होंने कभी कुछ कहा ही नहीं,तो मेरी सुनो।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”
वक़्त नहीं है।

Language: Hindi
184 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
चरित्रहीन
चरित्रहीन
Shekhar Chandra Mitra
कोशिश करो
कोशिश करो
Dr fauzia Naseem shad
तेरा चलना ओए ओए ओए
तेरा चलना ओए ओए ओए
The_dk_poetry
2329. पूर्णिका
2329. पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
आइन-ए-अल्फाज
आइन-ए-अल्फाज
AJAY AMITABH SUMAN
शोर जब-जब उठा इस हृदय में प्रिये !
शोर जब-जब उठा इस हृदय में प्रिये !
Arvind trivedi
✍️आखरी कोशिश✍️
✍️आखरी कोशिश✍️
'अशांत' शेखर
जिंदगी जिंदादिली का नाम है
जिंदगी जिंदादिली का नाम है
नन्दलाल सिंह 'कांतिपति'
'मेरी यादों में अब तक वे लम्हे बसे'
'मेरी यादों में अब तक वे लम्हे बसे'
Rashmi Sanjay
दिलों के खेल
दिलों के खेल
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कड़वा सच
कड़वा सच
Rakesh Pathak Kathara
"स्वतंत्रता दिवस"
Slok maurya "umang"
" सर्कस सदाबहार "
Dr Meenu Poonia
इश्क़ है मज़ाक थोड़ी है 💌
इश्क़ है मज़ाक थोड़ी है 💌
Skanda Joshi
“सबसे प्यारी मेरी कविता”
“सबसे प्यारी मेरी कविता”
DrLakshman Jha Parimal
भोक
भोक
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
#शेर-
#शेर-
*Author प्रणय प्रभात*
Pyar ke chappu se , jindagi ka naiya par lagane chale the ha
Pyar ke chappu se , jindagi ka naiya par lagane chale the ha
Sakshi Tripathi
" सच का दिया "
DESH RAJ
अगणित शौर्य गाथाएं हैं
अगणित शौर्य गाथाएं हैं
Bodhisatva kastooriya
दानवीरता की मिशाल : नगरमाता बिन्नीबाई सोनकर
दानवीरता की मिशाल : नगरमाता बिन्नीबाई सोनकर
Dr. Pradeep Kumar Sharma
हो तुम किसी मंदिर की पूजा सी
हो तुम किसी मंदिर की पूजा सी
Rj Anand Prajapati
💐प्रेम कौतुक-311💐
💐प्रेम कौतुक-311💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
" मुझमें फिर से बहार न आयेगी "
Aarti sirsat
हमारी मूर्खता ही हमे ज्ञान की ओर अग्रसर करती है।
हमारी मूर्खता ही हमे ज्ञान की ओर अग्रसर करती है।
शक्ति राव मणि
एक दिन यह समय भी बदलेगा
एक दिन यह समय भी बदलेगा
कवि दीपक बवेजा
सावन आया झूम के .....!!!
सावन आया झूम के .....!!!
Kanchan Khanna
पेंशन दे दो,
पेंशन दे दो,
मानक लाल मनु
हम भाई भाई थे
हम भाई भाई थे
Anamika Singh
पतझड़ तेरी वंदना, तेरी जय-जयकार(कुंडलिया)
पतझड़ तेरी वंदना, तेरी जय-जयकार(कुंडलिया)
Ravi Prakash
Loading...