Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Aug 2023 · 1 min read

“इंसान हो इंसान”

“इंसान हो इंसान”
तुम इंसान हो इंसान
गिरने के लिए
कभी मत सोचना
क्योंकि जानवरों से भी
नीचे गिर जाओगे,
उठने के लिए सोचना
क्योंकि देवताओं से भी
ऊपर उठ जाओगे।

6 Likes · 4 Comments · 300 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
सपनों को अपनी सांसों में रखो
सपनों को अपनी सांसों में रखो
Ms.Ankit Halke jha
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
राम - दीपक नीलपदम्
राम - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
और नहीं बस और नहीं, धरती पर हिंसा और नहीं
और नहीं बस और नहीं, धरती पर हिंसा और नहीं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
देख बहना ई कैसा हमार आदमी।
देख बहना ई कैसा हमार आदमी।
सत्य कुमार प्रेमी
3) मैं किताब हूँ
3) मैं किताब हूँ
पूनम झा 'प्रथमा'
वृक्षों का रोपण करें, रहे धरा संपन्न।
वृक्षों का रोपण करें, रहे धरा संपन्न।
डॉ.सीमा अग्रवाल
"चंदा मामा"
Dr. Kishan tandon kranti
हम तो अपनी बात कहेंगें
हम तो अपनी बात कहेंगें
अनिल कुमार निश्छल
*कहां किसी को मुकम्मल जहां मिलता है*
*कहां किसी को मुकम्मल जहां मिलता है*
Harminder Kaur
कहानी। सेवानिवृति
कहानी। सेवानिवृति
मधुसूदन गौतम
ॐ
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
*सूरज ने क्या पता कहॉ पर, सारी रात बिताई (हिंदी गजल)*
*सूरज ने क्या पता कहॉ पर, सारी रात बिताई (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
- ଓଟେରି ସେଲଭା କୁମାର
- ଓଟେରି ସେଲଭା କୁମାର
Otteri Selvakumar
सत्ता में वापसी के बाद
सत्ता में वापसी के बाद
*Author प्रणय प्रभात*
शायद आकर चले गए तुम
शायद आकर चले गए तुम
Ajay Kumar Vimal
परिदृश्य
परिदृश्य
Shyam Sundar Subramanian
मुँहतोड़ जवाब मिलेगा
मुँहतोड़ जवाब मिलेगा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मुक्तक
मुक्तक
पंकज कुमार कर्ण
वृद्धाश्रम इस समस्या का
वृद्धाश्रम इस समस्या का
Dr fauzia Naseem shad
तुम्हारी जय जय चौकीदार
तुम्हारी जय जय चौकीदार
Shyamsingh Lodhi (Tejpuriya)
मैं
मैं
Ranjana Verma
परिवर्तन
परिवर्तन
विनोद सिल्ला
स्वामी विवेकानंद
स्वामी विवेकानंद
मनोज कर्ण
मर्द की कामयाबी के पीछे माँ के अलावा कोई दूसरी औरत नहीं होती
मर्द की कामयाबी के पीछे माँ के अलावा कोई दूसरी औरत नहीं होती
Sandeep Kumar
दोहा
दोहा
दुष्यन्त 'बाबा'
देखिए आप आप सा हूँ मैं
देखिए आप आप सा हूँ मैं
Anis Shah
దేవత స్వరూపం గో మాత
దేవత స్వరూపం గో మాత
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
*
*"हिंदी"*
Shashi kala vyas
सुन्दरता।
सुन्दरता।
Anil Mishra Prahari
Loading...