Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Feb 2024 · 1 min read

आ गए आसमाॅ॑ के परिंदे

आ गए आसमाॅ॑ के परिंदे
छा गए आसमाॅ॑ के परिंदे – आ गए
कोई भी इनमें कम नहीं
कोई भी इनको गम नहीं
बतला रहे आसमाॅ॑ के परिंदे – आ गए
दिलों में इनके अरमान हैं
भोले हैं चाहे नादान हैं
समझा रहे आसमाॅ॑ के परिंदे – आ गए
चंदा को हैं ये लाने चले
सूरज को है पाने चले
लहरा रहे आसमाॅ॑ के परिंदे – आ गए
सपने संजोए हैं सभी
ख्वाब पिरोए हैं सभी
मुस्कुरा गए आसमाॅ॑ के परिंदे – आ गए
उमंग और विश्वास ले
‘V9द’ उड़ आकाश में
इठला रहे आसमाॅ॑ के परिंदे – आ गए

2 Likes · 78 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from VINOD CHAUHAN
View all
You may also like:
मेरा देश एक अलग ही रसते पे बढ़ रहा है,
मेरा देश एक अलग ही रसते पे बढ़ रहा है,
नेताम आर सी
* संस्कार *
* संस्कार *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
#सामयिक_ग़ज़ल
#सामयिक_ग़ज़ल
*Author प्रणय प्रभात*
लहरे बहुत है दिल मे दबा कर रखा है , काश ! जाना होता है, समुन
लहरे बहुत है दिल मे दबा कर रखा है , काश ! जाना होता है, समुन
Rohit yadav
"चुल्लू भर पानी"
Dr. Kishan tandon kranti
टेसू के वो फूल कविताएं बन गये ....
टेसू के वो फूल कविताएं बन गये ....
Kshma Urmila
💐प्रेम कौतुक-172💐
💐प्रेम कौतुक-172💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अमर स्वाधीनता सैनानी डॉ. राजेन्द्र प्रसाद
अमर स्वाधीनता सैनानी डॉ. राजेन्द्र प्रसाद
कवि रमेशराज
फेर रहे हैं आंख
फेर रहे हैं आंख
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
खरीद लो दुनिया के सारे ऐशो आराम
खरीद लो दुनिया के सारे ऐशो आराम
Ranjeet kumar patre
*बादल दोस्त हमारा (बाल कविता)*
*बादल दोस्त हमारा (बाल कविता)*
Ravi Prakash
ग़ज़ल/नज़्म - उसके सारे जज़्बात मद्देनजर रखे
ग़ज़ल/नज़्म - उसके सारे जज़्बात मद्देनजर रखे
अनिल कुमार
मन मंथन पर सुन सखे,जोर चले कब कोय
मन मंथन पर सुन सखे,जोर चले कब कोय
Dr Archana Gupta
आदमियों की जीवन कहानी
आदमियों की जीवन कहानी
Rituraj shivem verma
उड़ान
उड़ान
Saraswati Bajpai
अपनी तस्वीर
अपनी तस्वीर
Dr fauzia Naseem shad
लक्ष्य जितना बड़ा होगा उपलब्धि भी उतनी बड़ी होगी।
लक्ष्य जितना बड़ा होगा उपलब्धि भी उतनी बड़ी होगी।
Paras Nath Jha
यादों के सहारे कट जाती है जिन्दगी,
यादों के सहारे कट जाती है जिन्दगी,
Ram Krishan Rastogi
बढ़ी हैं दूरियां दिल की भले हम पास बैठे हैं।
बढ़ी हैं दूरियां दिल की भले हम पास बैठे हैं।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
🌱मैं कल न रहूँ...🌱
🌱मैं कल न रहूँ...🌱
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
शायरी
शायरी
goutam shaw
जब मुझसे मिलने आना तुम
जब मुझसे मिलने आना तुम
Shweta Soni
ईच्छा का त्याग -  राजू गजभिये
ईच्छा का त्याग - राजू गजभिये
Raju Gajbhiye
ओम के दोहे
ओम के दोहे
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
वो मुझे प्यार नही करता
वो मुझे प्यार नही करता
Swami Ganganiya
संगति
संगति
Buddha Prakash
मुझे छेड़ो ना इस तरह
मुझे छेड़ो ना इस तरह
Basant Bhagawan Roy
जिंदगी में रंजो गम बेशुमार है
जिंदगी में रंजो गम बेशुमार है
Er. Sanjay Shrivastava
स्टेटस अपडेट देखकर फोन धारक की वैचारिक, व्यवहारिक, मानसिक और
स्टेटस अपडेट देखकर फोन धारक की वैचारिक, व्यवहारिक, मानसिक और
विमला महरिया मौज
3276.*पूर्णिका*
3276.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
Loading...