Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Nov 5, 2016 · 1 min read

आल्ह छंद में एक रचना

आल्ह छंद पर आधारित एक रचना….
(मापनी 31 तथा 16,15 पर यति, अंत में गाल)

सागर जिसके पैर पखारे, खड़ा हिमालय जिसके भाल।
ऐसे भारतवर्ष में जन्में, देखो कितने माँ के लाल।1

पकिस्तान की परिपाटी है, पीछे पीठ करे वह वार,
ऐसा वार किया भारत ने, गये तमतमा उसके गाल।2

रहा कोंचता नश्तर दुश्मन, धावा किया जाय उस पार,
देख पराक्रम थल सेना का, बदल गयी तब उसकी चाल।3

सेना करे देश की रक्षा , नेता करते लूट खसोट,
पौरुष सेना ने दिखलाया, नेता खुद के’ बजाते गाल।4

खून पी रहे सब जनता का, देकर उनको लॉलीपॉप।
बना रहे जनता की मूरख, भेड़िये छिपे शेर की खाल।5

होड़ लगी है नेताओं में, कितना कौन सके है लूट।
जाति धर्म में देश बाँट कर, नेता हो रहे मालामाल।6

चतुर मीडिया भुना रहा है, भड़काये सबके जज़बात।
टी आर पी को बढ़ा रहा है, और कमाये इससे माल।7

जागरूक होना ही होगा, जाने जनता उनके भेद।
ऐसा सबक सिखाएं उनको, कभी न गलने पाये दाल।8

दूर करें मिल राग द्वेष सब, चलें तरक्की की सब राह।
साथ खड़ा हो जाये जन जन, उन्नत तभी देश का भाल।9

प्रवीण त्रिपाठी
05 नवम्बर 2016

1 Comment · 239 Views
You may also like:
!¡! बेखबर इंसान !¡!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
चार बूँदे...
"अशांत" शेखर
दया करो भगवान
Buddha Prakash
कभी ज़मीन कभी आसमान.....
अश्क चिरैयाकोटी
अमर काव्य हर हृदय को, दे सद्ज्ञान-प्रकाश
Pt. Brajesh Kumar Nayak
कबीर के राम
Shekhar Chandra Mitra
पिता का प्रेम
Seema gupta ( bloger) Gupta
मजदूरों की दुर्दशा
Anamika Singh
तुझ पर ही निर्भर हैं....
Dr. Alpa H. Amin
घुसमट
"अशांत" शेखर
क्या यही शिक्षामित्रों की है वो ख़ता
आकाश महेशपुरी
ईश्वर की ठोकर
Vikas Sharma'Shivaaya'
दादी मां की बहुत याद आई
VINOD KUMAR CHAUHAN
अपने पापा की मैं हूं।
Taj Mohammad
इश्क़―की―आग
N.ksahu0007@writer
कमर तोड़ता करधन
शेख़ जाफ़र खान
पितृ वंदना
संजीव शुक्ल 'सचिन'
ईद की दिली मुबारक बाद
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
✍️कथासत्य✍️
"अशांत" शेखर
परिस्थितियों के आगे न झुकना।
Anamika Singh
परिवर्तन की राह पकड़ो ।
Buddha Prakash
मकड़ी है कमाल
Buddha Prakash
तेरे दिल में कोई और है
Ram Krishan Rastogi
महाकवि नीरज के बहाने (संस्मरण)
Kanchan Khanna
सद्आत्मा शिवाला
Pt. Brajesh Kumar Nayak
भारत को क्या हो चला है
Mr Ismail Khan
💐💐प्रेम की राह पर-17💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
इश्क में तन्हाईयां बहुत है।
Taj Mohammad
औरतें
Kanchan Khanna
श्री भूकन शरण आर्य
Ravi Prakash
Loading...