Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Mar 2023 · 1 min read

आती है सब के यहाँ, खाती सबको मौत (कुंडलिया)*

आती है सब के यहाँ, खाती सबको मौत (कुंडलिया)*
————————————————-
आती है सब के यहाँ ,खाती सबको मौत
रखती सबसे शत्रुता ,जीवन की यह सौत
जीवन की यह सौत ,बुढ़ापा इससे डरता
बच्चे और जवान , प्राण सबके यह हरता
कहते रवि कविराय ,उदासी छा-छा जाती
जिस घर आती मौत , रुलाई केवल आती
——————————–
रचयिता : रवि प्रकाश ,बाजार सर्राफा
रामपुर (उत्तर प्रदेश)
मोबाइल 99976 15451

192 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
ज़िंदगी मौत,पर
ज़िंदगी मौत,पर
Dr fauzia Naseem shad
हिन्दी दोहा -स्वागत 1-2
हिन्दी दोहा -स्वागत 1-2
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
गौतम बुद्ध है बड़े महान
गौतम बुद्ध है बड़े महान
Buddha Prakash
धुप मे चलने और जलने का मज़ाक की कुछ अलग है क्योंकि छाव देखते
धुप मे चलने और जलने का मज़ाक की कुछ अलग है क्योंकि छाव देखते
Ranjeet kumar patre
चले ससुराल पँहुचे हवालात
चले ससुराल पँहुचे हवालात
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
वृक्षों के उपकार....
वृक्षों के उपकार....
डॉ.सीमा अग्रवाल
******** रुख्सार से यूँ न खेला करे ***********
******** रुख्सार से यूँ न खेला करे ***********
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
मुझे पढ़ने का शौक आज भी है जनाब,,
मुझे पढ़ने का शौक आज भी है जनाब,,
Seema gupta,Alwar
शीर्षक - कुदरत के रंग...... एक सच
शीर्षक - कुदरत के रंग...... एक सच
Neeraj Agarwal
प्रत्याशी को जाँचकर , देना  अपना  वोट
प्रत्याशी को जाँचकर , देना अपना वोट
Dr Archana Gupta
पत्नी के जन्मदिन पर....
पत्नी के जन्मदिन पर....
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
सेंगोल और संसद
सेंगोल और संसद
Damini Narayan Singh
"बल"
Dr. Kishan tandon kranti
वक्त हालत कुछ भी ठीक नहीं है अभी।
वक्त हालत कुछ भी ठीक नहीं है अभी।
Manoj Mahato
मेरी आरज़ू है ये
मेरी आरज़ू है ये
shabina. Naaz
शुम प्रभात मित्रो !
शुम प्रभात मित्रो !
Mahesh Jain 'Jyoti'
I am Cinderella
I am Cinderella
Kavita Chouhan
Ghazal
Ghazal
shahab uddin shah kannauji
सब अनहद है
सब अनहद है
Satish Srijan
I am Me - Redefined
I am Me - Redefined
Dhriti Mishra
*चॉंद की सैर (हास्य व्यंग्य)*
*चॉंद की सैर (हास्य व्यंग्य)*
Ravi Prakash
* सिला प्यार का *
* सिला प्यार का *
surenderpal vaidya
इश्क अमीरों का!
इश्क अमीरों का!
Sanjay ' शून्य'
वृंदावन की कुंज गलियां 💐
वृंदावन की कुंज गलियां 💐
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
हमको अब पढ़ने स्कूल जाना है
हमको अब पढ़ने स्कूल जाना है
gurudeenverma198
लघुकथा क्या है
लघुकथा क्या है
आचार्य ओम नीरव
😊गर्व की बात😊
😊गर्व की बात😊
*Author प्रणय प्रभात*
Life
Life
C.K. Soni
Dr Arun Kumar Shastri
Dr Arun Kumar Shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ढलती हुई दीवार ।
ढलती हुई दीवार ।
Manisha Manjari
Loading...