Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Sep 2023 · 1 min read

“आज मैंने”

“आज मैंने”
आज मैंने
माँ की फटी साड़ियाँ देखी
तब सोचने लगा
क्या इन्हीं साड़ियों में
छुपती है ममता की छाँव?
-डॉ. किशन टण्डन क्रान्ति

12 Likes · 7 Comments · 160 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
सोच बदलनी होगी
सोच बदलनी होगी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मनुष्य
मनुष्य
Sanjay ' शून्य'
2604.पूर्णिका
2604.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
"लघु कृषक की व्यथा"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
"दो पल की जिंदगी"
Yogendra Chaturwedi
कलियुग
कलियुग
Prakash Chandra
*जी लो ये पल*
*जी लो ये पल*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
🍃🌾🌾
🍃🌾🌾
Manoj Kushwaha PS
रिश्तों की बंदिशों में।
रिश्तों की बंदिशों में।
Taj Mohammad
रज चरण की ही बहुत है राजयोगी मत बनाओ।
रज चरण की ही बहुत है राजयोगी मत बनाओ।
*Author प्रणय प्रभात*
"विश्ववन्दनीय"
Dr. Kishan tandon kranti
सावन सूखा
सावन सूखा
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
// दोहा पहेली //
// दोहा पहेली //
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
प्रियवर
प्रियवर
लक्ष्मी सिंह
दोहे-
दोहे-
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
वो कहती हैं ग़ैर हों तुम अब! हम तुमसे प्यार नहीं करते
वो कहती हैं ग़ैर हों तुम अब! हम तुमसे प्यार नहीं करते
The_dk_poetry
सवर्ण
सवर्ण
Dr. Pradeep Kumar Sharma
अंधेरों में अंधकार से ही रहा वास्ता...
अंधेरों में अंधकार से ही रहा वास्ता...
कवि दीपक बवेजा
#नैमिषारण्य_यात्रा
#नैमिषारण्य_यात्रा
Ravi Prakash
🌷मनोरथ🌷
🌷मनोरथ🌷
पंकज कुमार कर्ण
*....आज का दिन*
*....आज का दिन*
Naushaba Suriya
ईश्वर का उपहार है बेटी, धरती पर भगवान है।
ईश्वर का उपहार है बेटी, धरती पर भगवान है।
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
याद तो हैं ना.…...
याद तो हैं ना.…...
Dr Manju Saini
वाह टमाटर !!
वाह टमाटर !!
Ahtesham Ahmad
डरने लगता हूँ...
डरने लगता हूँ...
Aadarsh Dubey
रमेशराज के विरोधरस के गीत
रमेशराज के विरोधरस के गीत
कवि रमेशराज
आँखों से भी मतांतर का एहसास होता है , पास रहकर भी विभेदों का
आँखों से भी मतांतर का एहसास होता है , पास रहकर भी विभेदों का
DrLakshman Jha Parimal
एक शेर
एक शेर
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
बसंत
बसंत
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
Loading...