Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Jan 2024 · 1 min read

आगाज़-ए-नववर्ष

नववर्ष की नई किरण, लेकर आई नई उमंग
नववर्ष की नई चेतना, लेकर आई नई कल्पना
नववर्ष की नई सुबह, लेकर आई नया उदय
नववर्ष की नई खुशियां, लेकर आई नई आशाएं
नववर्ष की नई उम्मीदें, लेकर आई नई ख्वाहिशें
नववर्ष की नई शुरुआत, लेकर आई नई उत्सुकता
नववर्ष की नई कामना, लेकर आई नई सौगात
नववर्ष की नई ऊर्जा, लेकर आई नए तरंग
नववर्ष की नई किरण, लेकर आई नए संकल्प।

– सुमन मीना (अदिति)

Language: Hindi
1 Like · 74 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*खिलौना आदमी है बस, समय के हाथ चाभी है (हिंदी गजल)*
*खिलौना आदमी है बस, समय के हाथ चाभी है (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
द़ुआ कर
द़ुआ कर
Atul "Krishn"
💐प्रेम कौतुक-185💐
💐प्रेम कौतुक-185💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
प्रेम ...
प्रेम ...
sushil sarna
भूल गया कैसे तू हमको
भूल गया कैसे तू हमको
gurudeenverma198
वो इश्क की गली का
वो इश्क की गली का
साहित्य गौरव
नारी वो…जो..
नारी वो…जो..
Rekha Drolia
#छंद_शैली_में
#छंद_शैली_में
*Author प्रणय प्रभात*
“ दुमका संस्मरण ” ( विजली ) (1958)
“ दुमका संस्मरण ” ( विजली ) (1958)
DrLakshman Jha Parimal
भीख
भीख
Mukesh Kumar Sonkar
उपहार उसी को
उपहार उसी को
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
3011.*पूर्णिका*
3011.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
पापा मैं आप सी नही हो पाऊंगी
पापा मैं आप सी नही हो पाऊंगी
Anjana banda
राष्ट्र निर्माता शिक्षक
राष्ट्र निर्माता शिक्षक
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
स्याह एक रात
स्याह एक रात
हिमांशु Kulshrestha
"अपेक्षा"
Dr. Kishan tandon kranti
वफ़ा
वफ़ा
shabina. Naaz
बुद्ध को अपने याद करो ।
बुद्ध को अपने याद करो ।
Buddha Prakash
माँ नहीं मेरी
माँ नहीं मेरी
Dr fauzia Naseem shad
सुनो प्रियमणि!....
सुनो प्रियमणि!....
Santosh Soni
अश्रु से भरी आंँखें
अश्रु से भरी आंँखें
डॉ माधवी मिश्रा 'शुचि'
शाम हो गई है अब हम क्या करें...
शाम हो गई है अब हम क्या करें...
राहुल रायकवार जज़्बाती
वेलेंटाइन डे रिप्रोडक्शन की एक प्रेक्टिकल क्लास है।
वेलेंटाइन डे रिप्रोडक्शन की एक प्रेक्टिकल क्लास है।
Rj Anand Prajapati
Love is beyond all the limits .
Love is beyond all the limits .
Sakshi Tripathi
मोह लेगा जब हिया को, रूप मन के मीत का
मोह लेगा जब हिया को, रूप मन के मीत का
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मंत्र: सिद्ध गंधर्व यक्षाधैसुरैरमरैरपि। सेव्यमाना सदा भूयात्
मंत्र: सिद्ध गंधर्व यक्षाधैसुरैरमरैरपि। सेव्यमाना सदा भूयात्
Harminder Kaur
आजादी का
आजादी का "अमृत महोत्सव"
राकेश चौरसिया
चाहत के ज़ख्म
चाहत के ज़ख्म
Surinder blackpen
प्रेम उतना ही करो जिसमे हृदय खुश रहे
प्रेम उतना ही करो जिसमे हृदय खुश रहे
पूर्वार्थ
पत्थर
पत्थर
Shyam Sundar Subramanian
Loading...