Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Jul 2023 · 1 min read

आखों में नमी की कमी नहीं

आखों में नमी की कमी नहीं
इश्क ना सही.. दर्द की कमी नही
तेरा हसीन सा जुल्म ढाया मुझे
नही है गीला और शिकवा तुम्हे ।।

1 Like · 2 Comments · 168 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from goutam shaw
View all
You may also like:
बेवफाई करके भी वह वफा की उम्मीद करते हैं
बेवफाई करके भी वह वफा की उम्मीद करते हैं
Anand Kumar
🌷 *परम आदरणीय शलपनाथ यादव
🌷 *परम आदरणीय शलपनाथ यादव "प्रेम " जी के अवतरण दिवस पर विशेष
Dr.Khedu Bharti
श्वान संवाद
श्वान संवाद
Shyam Sundar Subramanian
31/05/2024
31/05/2024
Satyaveer vaishnav
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
#शेर
#शेर
*प्रणय प्रभात*
दिल की बात बताऊँ कैसे
दिल की बात बताऊँ कैसे
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
घर एक मंदिर🌷🙏
घर एक मंदिर🌷🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
खेल खिलाड़ी
खेल खिलाड़ी
Mahender Singh
Is ret bhari tufano me
Is ret bhari tufano me
Sakshi Tripathi
सूरज नहीं थकता है
सूरज नहीं थकता है
Ghanshyam Poddar
भोले नाथ है हमारे,
भोले नाथ है हमारे,
manjula chauhan
प्रेम का पुजारी हूं, प्रेम गीत ही गाता हूं
प्रेम का पुजारी हूं, प्रेम गीत ही गाता हूं
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
गौरी सुत नंदन
गौरी सुत नंदन
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
इस दुनिया में कोई भी मजबूर नहीं होता बस अपने आदतों से बाज़ आ
इस दुनिया में कोई भी मजबूर नहीं होता बस अपने आदतों से बाज़ आ
Rj Anand Prajapati
धरती मेरी स्वर्ग
धरती मेरी स्वर्ग
Sandeep Pande
तुम्हारी दुआ।
तुम्हारी दुआ।
सत्य कुमार प्रेमी
असुर सम्राट भक्त प्रह्लाद – भातृ वध – 05
असुर सम्राट भक्त प्रह्लाद – भातृ वध – 05
Kirti Aphale
एक आंसू
एक आंसू
Surinder blackpen
"कथनी-करनी"
Dr. Kishan tandon kranti
ये ऊँचे-ऊँचे पर्वत शिखरें,
ये ऊँचे-ऊँचे पर्वत शिखरें,
Buddha Prakash
रिश्ता एक ज़िम्मेदारी
रिश्ता एक ज़िम्मेदारी
Dr fauzia Naseem shad
डॉ. ध्रुव की दृष्टि में कविता का अमृतस्वरूप
डॉ. ध्रुव की दृष्टि में कविता का अमृतस्वरूप
कवि रमेशराज
विश्व पुस्तक मेला, दिल्ली 2023
विश्व पुस्तक मेला, दिल्ली 2023
Shashi Dhar Kumar
*जाऍंगे प्रभु राम के, दर्शन करने धाम (कुंडलिया)*
*जाऍंगे प्रभु राम के, दर्शन करने धाम (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
गीत..
गीत..
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
मजहब
मजहब
Dr. Pradeep Kumar Sharma
चल मनवा चलें.....!!
चल मनवा चलें.....!!
Kanchan Khanna
समीक्ष्य कृति: बोल जमूरे! बोल
समीक्ष्य कृति: बोल जमूरे! बोल
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
प्रेम शाश्वत है
प्रेम शाश्वत है
Harminder Kaur
Loading...