Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Sep 2016 · 1 min read

आऊँगा मैँ रंग लगाने

आऊँगा मैँ रंग लगाने
॰ ॰ ॰ ॰ ॰
अबकी नव रस धार बहाने
मन की चाहत को भड़काने
सोई आशा एक जगाने
आऊँगा मैँ रंग लगाने
हरदम तुमसे दूर रहा हूँ
कारण मैँ मजबूर रहा हूँ
तड़पा हूँ मैँ तुमसे ज्यादा
पूरा होगा अबकी वादा
होली मेँ तुमसे मिलने मैँ
सूखा हूँ लेकिन खिलने मैँ
आऊँगा तेरी बाँहोँ मेँ
आती हो जैसे आहोँ मेँ
सजना मेरी रानी ऐसे
शादी मेँ थी लगती जैसे
प्यार बहुत तुमसे हूँ करता
मिलने से पहले हूँ डरता
फिर से रोजी दूर करेगी
फिर हमको मजबूर करेगी
लेकिन पल जो मिल जायेँगे
उसमेँ ही हम खिल जायेँगे
इक दूजे को रंग लगाकर
बिछड़ेँगे फिर अंग लगाकर

– आकाश महेशपुरी

Language: Hindi
177 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Follow our official WhatsApp Channel to get all the exciting updates about our writing competitions, latest published books, author interviews and much more, directly on your phone.
Books from आकाश महेशपुरी
View all
You may also like:
वो नन्दलाल का कन्हैया वृषभानु की किशोरी
वो नन्दलाल का कन्हैया वृषभानु की किशोरी
Mahesh Tiwari 'Ayan'
हर सुबह जन्म लेकर,रात को खत्म हो जाती हूं
हर सुबह जन्म लेकर,रात को खत्म हो जाती हूं
Pramila sultan
आदमी इस दौर का हो गया अंधा …
आदमी इस दौर का हो गया अंधा …
shabina. Naaz
*
*"माँ"*
Shashi kala vyas
कैसे भूल जाएं...
कैसे भूल जाएं...
Er. Sanjay Shrivastava
एक तरफा प्यार
एक तरफा प्यार
Neeraj Agarwal
नाम में क्या रखा है
नाम में क्या रखा है
सूर्यकांत द्विवेदी
आज़ाद भारत एक ऐसा जुमला है
आज़ाद भारत एक ऐसा जुमला है
SURYAA
धरती को‌ हम स्वर्ग बनायें
धरती को‌ हम स्वर्ग बनायें
Chunnu Lal Gupta
परिवर्तन
परिवर्तन
विनोद सिल्ला
✍️प्यार,इश्क ही इँसा की रौनक है ✍️
✍️प्यार,इश्क ही इँसा की रौनक है ✍️
'अशांत' शेखर
"पते की बात"
Dr. Kishan tandon kranti
कुदरत का प्यारा सा तोहफा ये सारी दुनियां अपनी है।
कुदरत का प्यारा सा तोहफा ये सारी दुनियां अपनी है।
सत्य कुमार प्रेमी
मेरे गुरु
मेरे गुरु
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
#एक_सराहनीय_पहल
#एक_सराहनीय_पहल
*Author प्रणय प्रभात*
क्रिकेट का पिच,
क्रिकेट का पिच,
Punam Pande
प्रेम
प्रेम
Dr. Shailendra Kumar Gupta
अगर मैं अपनी बात कहूँ
अगर मैं अपनी बात कहूँ
ruby kumari
गुनाह ना करके भी
गुनाह ना करके भी
Harminder Kaur
एक कप कड़क चाय.....
एक कप कड़क चाय.....
Santosh Soni
हीरा बा
हीरा बा
मृत्युंजय कुमार
लोग आपन त सभे कहाते नू बा
लोग आपन त सभे कहाते नू बा
सन्तोष कुमार विश्वकर्मा 'सूर्य'
💐अज्ञात के प्रति-142💐
💐अज्ञात के प्रति-142💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सर्वश्रेष्ठ
सर्वश्रेष्ठ
Seema 'Tu hai na'
"बोलती आँखें"
पंकज कुमार कर्ण
मंगलमय कर दो प्रभो ,जटिल जगत की राह (कुंडलिया)
मंगलमय कर दो प्रभो ,जटिल जगत की राह (कुंडलिया)
Ravi Prakash
विश्वास
विश्वास
Dr. Pradeep Kumar Sharma
असली नकली
असली नकली
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
मौत का क्या भरोसा
मौत का क्या भरोसा
Ram Krishan Rastogi
शिव आदि पुरुष सृष्टि के,
शिव आदि पुरुष सृष्टि के,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Loading...