Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Jun 2023 · 1 min read

अमर्यादा

एक अशांत महिला कर्मी
उसके बातों में नही थी नरमी
सायद कामों की अधिकता से
थी परेशान,
लोगों की बातों पर
नही दे रही थी ध्यान,
इसपर ग्राहकों को
गुस्सा आया
उल्टी सीधी
बात सुनाया,
इतने में
बैंक में मची अफरा तफरी,
किसी ने
उछाल दी महिला की पगड़ी,
महिला हुई शर्मसार
अपने कर्मों की हुई शिकार ।

445 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from साहिल
View all
You may also like:
शेर बेशक़ सुना रही हूँ मैं
शेर बेशक़ सुना रही हूँ मैं
Shweta Soni
Peace peace
Peace peace
Poonam Sharma
The Journey of this heartbeat.
The Journey of this heartbeat.
Manisha Manjari
बहन की रक्षा करना हमारा कर्तव्य ही नहीं बल्कि धर्म भी है, पर
बहन की रक्षा करना हमारा कर्तव्य ही नहीं बल्कि धर्म भी है, पर
जय लगन कुमार हैप्पी
4) “एक और मौक़ा”
4) “एक और मौक़ा”
Sapna Arora
खोया है हरेक इंसान
खोया है हरेक इंसान
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
समय
समय
Neeraj Agarwal
वफ़ा का इनाम तेरे प्यार की तोहफ़े में है,
वफ़ा का इनाम तेरे प्यार की तोहफ़े में है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
सिर्फ़ वादे ही निभाने में गुज़र जाती है
सिर्फ़ वादे ही निभाने में गुज़र जाती है
अंसार एटवी
2973.*पूर्णिका*
2973.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
बचपन के वो दिन कितने सुहाने लगते है
बचपन के वो दिन कितने सुहाने लगते है
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
पकौड़े चाय ही बेचा करो अच्छा है जी।
पकौड़े चाय ही बेचा करो अच्छा है जी।
सत्य कुमार प्रेमी
भरी रंग से जिंदगी, कह होली त्योहार।
भरी रंग से जिंदगी, कह होली त्योहार।
Suryakant Dwivedi
बढ़ता कदम बढ़ाता भारत
बढ़ता कदम बढ़ाता भारत
AMRESH KUMAR VERMA
परिंदा
परिंदा
VINOD CHAUHAN
रामायण से सीखिए,
रामायण से सीखिए,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
इस धरा पर अगर कोई चीज आपको रुचिकर नहीं लगता है,तो इसका सीधा
इस धरा पर अगर कोई चीज आपको रुचिकर नहीं लगता है,तो इसका सीधा
Paras Nath Jha
लम्हा भर है जिंदगी
लम्हा भर है जिंदगी
Dr. Sunita Singh
*भारत माता को किया, किसने लहूलुहान (कुंडलिया)*
*भारत माता को किया, किसने लहूलुहान (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
"कथनी-करनी"
Dr. Kishan tandon kranti
मेरी तकलीफ़
मेरी तकलीफ़
Dr fauzia Naseem shad
दीवारों की चुप्पी में
दीवारों की चुप्पी में
Sangeeta Beniwal
"लाभ का लोभ”
पंकज कुमार कर्ण
■ परिहास...
■ परिहास...
*Author प्रणय प्रभात*
All good
All good
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Love ❤
Love ❤
HEBA
धर्म-कर्म (भजन)
धर्म-कर्म (भजन)
Sandeep Pande
क्या हिसाब दूँ
क्या हिसाब दूँ
हिमांशु Kulshrestha
पत्नी के जन्मदिन पर....
पत्नी के जन्मदिन पर....
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
Loading...