Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Nov 2023 · 1 min read

अभी नहीं पूछो मुझसे यह बात तुम

अभी नहीं पूछो मुझसे, यह बात तुम।
बनाऊंगा कब अपना हमराह तुझको।।
कब मैं भरूँगा तेरी मांग में सिंदूर।
आऊँगा कब लेने डोली में तुझको।।
अभी नहीं पूछो मुझसे———————।।

जीना नहीं चाहता, अब मैं अभावों में।
चलना नहीं चाहता, अब मैं काँटों में।।
अब चाहिए मुझको फूल मेरी राहों में।
तेरी राह से नहीं है, मतलब मुझको।।
अभी नहीं पूछो मुझसे———————।।

बहुत लहू बहाकर यह, लगाया है चमन।
बहुत दुःखों के बाद यह, आया है अमन।।
क्यों मैं कलह को अब, गले से लगाऊँ।
करना नहीं तुमसे कोई, वादा भी मुझको।।
अभी नहीं पूछो मुझसे———————।।

तेरा तो ख्वाब कोई, टूटेगा नहीं।
तेरा तो कुछ भी कोई, लूटेगा नहीं।।
बर्बादी तो बस, मेरी ही होगी।
सोचूँगा, कब हाथ सौंपना तुझको।।
अभी नहीं पूछो मुझसे———————।।

शिक्षक एवं साहित्यकार
गुरुदीन वर्मा उर्फ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)

Language: Hindi
Tag: गीत
162 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
दोहे- दास
दोहे- दास
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
तू  मेरी जान तू ही जिंदगी बन गई
तू मेरी जान तू ही जिंदगी बन गई
कृष्णकांत गुर्जर
#ऐसी_कैसी_भूख?
#ऐसी_कैसी_भूख?
*प्रणय प्रभात*
"अश्क भरे नयना"
Ekta chitrangini
मासी की बेटियां
मासी की बेटियां
Adha Deshwal
अब भी कहता हूँ
अब भी कहता हूँ
Dr. Kishan tandon kranti
दोस्ती
दोस्ती
Mukesh Kumar Sonkar
23/05.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
23/05.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
भक्तिभाव
भक्तिभाव
Dr. Pradeep Kumar Sharma
बगावत की बात
बगावत की बात
AJAY PRASAD
प्रेम
प्रेम
पंकज कुमार कर्ण
9) खबर है इनकार तेरा
9) खबर है इनकार तेरा
पूनम झा 'प्रथमा'
मैं फक्र से कहती हू
मैं फक्र से कहती हू
Naushaba Suriya
जीवन का हर एक खट्टा मीठा अनुभव एक नई उपयोगी सीख देता है।इसील
जीवन का हर एक खट्टा मीठा अनुभव एक नई उपयोगी सीख देता है।इसील
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
Hasta hai Chehra, Dil Rota bahut h
Hasta hai Chehra, Dil Rota bahut h
Kumar lalit
छूटा उसका हाथ
छूटा उसका हाथ
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
18, गरीब कौन
18, गरीब कौन
Dr .Shweta sood 'Madhu'
ऐ जिंदगी
ऐ जिंदगी
अनिल "आदर्श"
✍️✍️✍️✍️
✍️✍️✍️✍️
शेखर सिंह
"परखना "
Yogendra Chaturwedi
!! चमन का सिपाही !!
!! चमन का सिपाही !!
Chunnu Lal Gupta
नारी
नारी
Dr Parveen Thakur
One day you will realized that happiness was never about fin
One day you will realized that happiness was never about fin
पूर्वार्थ
मां से ही तो सीखा है।
मां से ही तो सीखा है।
SATPAL CHAUHAN
वक्त
वक्त
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
ख्याल नहीं थे उम्दा हमारे, इसलिए हालत ऐसी हुई
ख्याल नहीं थे उम्दा हमारे, इसलिए हालत ऐसी हुई
gurudeenverma198
सुलगती आग हूॅ॑ मैं बुझी हुई राख ना समझ
सुलगती आग हूॅ॑ मैं बुझी हुई राख ना समझ
VINOD CHAUHAN
*माटी कहे कुम्हार से*
*माटी कहे कुम्हार से*
Harminder Kaur
तो क्या हुआ
तो क्या हुआ
Sûrëkhâ
Ranjeet Shukla
Ranjeet Shukla
Ranjeet Kumar Shukla
Loading...