Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Feb 2023 · 1 min read

💐अज्ञात के प्रति-95💐

अब और कोई तमाशा रह गया है बाकी,
हर बार की नाराज़गी अच्छी नहीं लगती।।

©®अभिषेक: पाराशरः ‘आनन्द’

Language: Hindi
44 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
कहाँ-कहाँ नहीं ढूंढ़ा तुमको
कहाँ-कहाँ नहीं ढूंढ़ा तुमको
Ranjana Verma
रावण था विद्वान् अगर तो समझो उसकी  सीख रही।
रावण था विद्वान् अगर तो समझो उसकी सीख रही।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
रही सोच जिसकी
रही सोच जिसकी
Dr fauzia Naseem shad
सच सच बोलो
सच सच बोलो
सूर्यकांत द्विवेदी
किस गुस्ताखी की जमाना सजा देता है..
किस गुस्ताखी की जमाना सजा देता है..
कवि दीपक बवेजा
है ख्वाहिश गर तेरे दिल में,
है ख्वाहिश गर तेरे दिल में,
Satish Srijan
💐इश्क़ में फ़क़्र होना भी शर्त है💐
💐इश्क़ में फ़क़्र होना भी शर्त है💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
रिश्ते सम्भालन् राखियो, रिश्तें काँची डोर समान।
रिश्ते सम्भालन् राखियो, रिश्तें काँची डोर समान।
Anil chobisa
गीत नए गाने होंगे
गीत नए गाने होंगे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
तानाशाहों का हश्र
तानाशाहों का हश्र
Shekhar Chandra Mitra
हमारी निशानी मिटा कर तुम नई कहानी बुन लेना,
हमारी निशानी मिटा कर तुम नई कहानी बुन लेना,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
Ek ladki udas hoti hai
Ek ladki udas hoti hai
Sakshi Tripathi
ऐसे न देख पगली प्यार हो जायेगा ..
ऐसे न देख पगली प्यार हो जायेगा ..
Yash mehra
तुझमें वह कशिश है
तुझमें वह कशिश है
gurudeenverma198
बुश का बुर्का
बुश का बुर्का
नन्दलाल सिंह 'कांतिपति'
प्रेमचंद के पत्र
प्रेमचंद के पत्र
Ravi Prakash
इश्क वो गुनाह है
इश्क वो गुनाह है
Surinder blackpen
"सत्यपाल मलिक"
*Author प्रणय प्रभात*
आसान नहीं होता...
आसान नहीं होता...
seema varma
जी लगाकर ही सदा,
जी लगाकर ही सदा,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
वाह मेरा देश किधर जा रहा है!
वाह मेरा देश किधर जा रहा है!
कृष्ण मलिक अम्बाला
शब्द उनके बहुत नुकीले हैं
शब्द उनके बहुत नुकीले हैं
Dr Archana Gupta
एक कुआ पुराना सा.. जिसको बने बीत गया जमाना सा..
एक कुआ पुराना सा.. जिसको बने बीत गया जमाना सा..
Shubham Pandey (S P)
निशान
निशान
Saraswati Bajpai
जरा सी गलतफहमी पर
जरा सी गलतफहमी पर
Vishal babu (vishu)
कर्मयोगी
कर्मयोगी
Aman Kumar Holy
पीक चित्रकार
पीक चित्रकार
शांतिलाल सोनी
The Little stars!
The Little stars!
Buddha Prakash
आज की प्रस्तुति: भाग 4
आज की प्रस्तुति: भाग 4
Rajeev Dutta
मेरी सोच (गजल )
मेरी सोच (गजल )
umesh mehra
Loading...