Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Feb 2024 · 1 min read

अच्छे बच्चे

अच्छे बच्चे

खेलते-कूदते अच्छे हम
पढ़ाई भी करते खूब हम।
होमवर्क से कभी न डरते
सदा समय पर पूरा करते।
गुरुजनों के शाबाशी पाते
सभी शिक्षक हमको हैं भाते।
परीक्षा जब भी नजदीक आता
पढ़ाई में जुट जाते हैं हम ।
परीक्षा परिणाम जब भी आता
प्रथम श्रेणी में पास होते हैं हम।
खेलते-कूदते अच्छे हम
पढ़ाई भी करते खूब हम।

-डॉ. प्रदीप कुमार शर्मा
रायपुर, छत्तीसगढ़

63 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
अहिल्या
अहिल्या
अनूप अम्बर
वो भी तन्हा रहता है
वो भी तन्हा रहता है
'अशांत' शेखर
आ जाओ
आ जाओ
हिमांशु Kulshrestha
शहर बसते गए,,,
शहर बसते गए,,,
पूर्वार्थ
कल शाम में बारिश हुई,थोड़ी ताप में कमी आई
कल शाम में बारिश हुई,थोड़ी ताप में कमी आई
Keshav kishor Kumar
अंताक्षरी पिरामिड तुक्तक
अंताक्षरी पिरामिड तुक्तक
Subhash Singhai
Biography Sauhard Shiromani Sant Shri Dr Saurabh
Biography Sauhard Shiromani Sant Shri Dr Saurabh
World News
यही जीवन है ।
यही जीवन है ।
Rohit yadav
चमकते चेहरों की मुस्कान में....,
चमकते चेहरों की मुस्कान में....,
कवि दीपक बवेजा
पसन्द नहीं था खुदा को भी, यह रिश्ता तुम्हारा
पसन्द नहीं था खुदा को भी, यह रिश्ता तुम्हारा
gurudeenverma198
चुना था हमने जिसे देश के विकास खातिर
चुना था हमने जिसे देश के विकास खातिर
Manoj Mahato
*मनुज ले राम का शुभ नाम, भवसागर से तरते हैं (मुक्तक)*
*मनुज ले राम का शुभ नाम, भवसागर से तरते हैं (मुक्तक)*
Ravi Prakash
क्या हो, अगर कोई साथी न हो?
क्या हो, अगर कोई साथी न हो?
Vansh Agarwal
रूठ जा..... ये हक है तेरा
रूठ जा..... ये हक है तेरा
सिद्धार्थ गोरखपुरी
मैं उसकी देखभाल एक जुनूं से करती हूँ..
मैं उसकी देखभाल एक जुनूं से करती हूँ..
Shweta Soni
बे-ख़ुद
बे-ख़ुद
Shyam Sundar Subramanian
गुरु
गुरु
Rashmi Sanjay
एक पंथ दो काज
एक पंथ दो काज
Dr. Pradeep Kumar Sharma
सावन
सावन
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
■चंदे का धंधा■
■चंदे का धंधा■
*Author प्रणय प्रभात*
Tum hame  nist-ee nabut  kardo,
Tum hame nist-ee nabut kardo,
Sakshi Tripathi
चाँदनी
चाँदनी
नन्दलाल सुथार "राही"
हे ईश्वर किसी की इतनी भी परीक्षा न लें
हे ईश्वर किसी की इतनी भी परीक्षा न लें
Gouri tiwari
मां के आँचल में
मां के आँचल में
Satish Srijan
* हो जाओ तैयार *
* हो जाओ तैयार *
surenderpal vaidya
कर्मयोगी संत शिरोमणि गाडगे
कर्मयोगी संत शिरोमणि गाडगे
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
क़दर करके क़दर हासिल हुआ करती ज़माने में
क़दर करके क़दर हासिल हुआ करती ज़माने में
आर.एस. 'प्रीतम'
लड्डु शादी का खायके, अनिल कैसे खुशी बनाये।
लड्डु शादी का खायके, अनिल कैसे खुशी बनाये।
Anil chobisa
इश्क़-ए-क़िताब की ये बातें बहुत अज़ीज हैं,
इश्क़-ए-क़िताब की ये बातें बहुत अज़ीज हैं,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
बचपन का प्यार
बचपन का प्यार
Vandna Thakur
Loading...