Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Dec 2023 · 1 min read

Price less मोहब्बत 💔

अच्छी नौकरी जल्दी ढूंढ लेना
मोहब्बत की शुरुआत नही ,
मोहब्बत का अंत है ।

-rohit

130 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
यादें...
यादें...
Harminder Kaur
फिर आई स्कूल की यादें
फिर आई स्कूल की यादें
Arjun Bhaskar
हृदय कुंज  में अवतरित, हुई पिया की याद।
हृदय कुंज में अवतरित, हुई पिया की याद।
sushil sarna
💐प्रेम कौतुक-491💐
💐प्रेम कौतुक-491💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जीवन की आपाधापी में, न जाने सब क्यों छूटता जा रहा है।
जीवन की आपाधापी में, न जाने सब क्यों छूटता जा रहा है।
Gunjan Tiwari
प्रेरणा
प्रेरणा
पूर्वार्थ
■ सियासी बड़बोले...
■ सियासी बड़बोले...
*Author प्रणय प्रभात*
एक दिन का बचपन
एक दिन का बचपन
Kanchan Khanna
कुंडलिया
कुंडलिया
दुष्यन्त 'बाबा'
फिर से अरमान कोई क़त्ल हुआ है मेरा
फिर से अरमान कोई क़त्ल हुआ है मेरा
Anis Shah
एहसास के रिश्तों में
एहसास के रिश्तों में
Dr fauzia Naseem shad
" ख्वाबों का सफर "
Pushpraj Anant
!! जलता हुआ चिराग़ हूँ !!
!! जलता हुआ चिराग़ हूँ !!
Chunnu Lal Gupta
इश्क़ ❤️
इश्क़ ❤️
Skanda Joshi
गजल सगीर
गजल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
यति यतनलाल
यति यतनलाल
Dr. Pradeep Kumar Sharma
किसान
किसान
Bodhisatva kastooriya
लोककवि रामचरन गुप्त का लोक-काव्य +डॉ. वेदप्रकाश ‘अमिताभ ’
लोककवि रामचरन गुप्त का लोक-काव्य +डॉ. वेदप्रकाश ‘अमिताभ ’
कवि रमेशराज
* रंग गुलाल अबीर *
* रंग गुलाल अबीर *
surenderpal vaidya
*मची हैं हर तरफ ऑंसू की, हाहाकार की बातें (हिंदी गजल)*
*मची हैं हर तरफ ऑंसू की, हाहाकार की बातें (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
*पछतावा*
*पछतावा*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
खाने पुराने
खाने पुराने
Sanjay ' शून्य'
शिक्षा बिना है, जीवन में अंधियारा
शिक्षा बिना है, जीवन में अंधियारा
gurudeenverma198
यदि कोई आपके मैसेज को सीन करके उसका प्रत्युत्तर न दे तो आपको
यदि कोई आपके मैसेज को सीन करके उसका प्रत्युत्तर न दे तो आपको
Rj Anand Prajapati
जो लोग ये कहते हैं कि सारे काम सरकार नहीं कर सकती, कुछ कार्य
जो लोग ये कहते हैं कि सारे काम सरकार नहीं कर सकती, कुछ कार्य
Dr. Man Mohan Krishna
"एक जंगल"
Dr. Kishan tandon kranti
सुवह है राधे शाम है राधे   मध्यम  भी राधे-राधे है
सुवह है राधे शाम है राधे मध्यम भी राधे-राधे है
Anand.sharma
“शादी के बाद- मिथिला दर्शन” ( संस्मरण )
“शादी के बाद- मिथिला दर्शन” ( संस्मरण )
DrLakshman Jha Parimal
आज तुझे देख के मेरा बहम टूट गया
आज तुझे देख के मेरा बहम टूट गया
Kumar lalit
भाई बहन का रिश्ता बचपन और शादी के बाद का
भाई बहन का रिश्ता बचपन और शादी के बाद का
Rajni kapoor
Loading...