Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Apr 2024 · 1 min read

“What comes easy won’t last,

“What comes easy won’t last,
What lasts won’t come easy.”

36 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मै भी सुना सकता हूँ
मै भी सुना सकता हूँ
Anil chobisa
पुरातत्वविद
पुरातत्वविद
Kunal Prashant
नयी - नयी लत लगी है तेरी
नयी - नयी लत लगी है तेरी
सिद्धार्थ गोरखपुरी
पहले तेरे हाथों पर
पहले तेरे हाथों पर
The_dk_poetry
"खुशी मत मना"
Dr. Kishan tandon kranti
शिछा-दोष
शिछा-दोष
Bodhisatva kastooriya
🌹🙏प्रेमी प्रेमिकाओं के लिए समर्पित🙏 🌹
🌹🙏प्रेमी प्रेमिकाओं के लिए समर्पित🙏 🌹
कृष्णकांत गुर्जर
*रिश्ता होने से रिश्ता नहीं बनता,*
*रिश्ता होने से रिश्ता नहीं बनता,*
शेखर सिंह
दिन भी बहके से हुए रातें आवारा हो गईं।
दिन भी बहके से हुए रातें आवारा हो गईं।
सत्य कुमार प्रेमी
(13) हाँ, नींद हमें भी आती है !
(13) हाँ, नींद हमें भी आती है !
Kishore Nigam
सबसे बड़ा गम है गरीब का
सबसे बड़ा गम है गरीब का
Dr fauzia Naseem shad
समय के साथ ही हम है
समय के साथ ही हम है
Neeraj Agarwal
आखिर कब तक?
आखिर कब तक?
Pratibha Pandey
असली अभागा कौन ???
असली अभागा कौन ???
VINOD CHAUHAN
अपने वतन पर सरफ़रोश
अपने वतन पर सरफ़रोश
gurudeenverma198
कई खयालों में...!
कई खयालों में...!
singh kunwar sarvendra vikram
!! परदे हया के !!
!! परदे हया के !!
Chunnu Lal Gupta
23/158.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/158.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
सहित्य में हमे गहरी रुचि है।
सहित्य में हमे गहरी रुचि है।
Ekta chitrangini
जीना भूल गए है हम
जीना भूल गए है हम
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
दिल से दिल तो टकराया कर
दिल से दिल तो टकराया कर
Ram Krishan Rastogi
*झील-झरने सब पर्वत 【कुंडलिया】*
*झील-झरने सब पर्वत 【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
दुःख हरणी
दुःख हरणी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
"आशा" की चौपाइयां
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
कर्म से विश्वाश जन्म लेता है,
कर्म से विश्वाश जन्म लेता है,
Sanjay ' शून्य'
बहारें तो आज भी आती हैं
बहारें तो आज भी आती हैं
Ritu Asooja
क्यो नकाब लगाती हो
क्यो नकाब लगाती हो
भरत कुमार सोलंकी
आज की जरूरत~
आज की जरूरत~
दिनेश एल० "जैहिंद"
मां की कलम से!!!
मां की कलम से!!!
Seema gupta,Alwar
Quote
Quote
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
Loading...